loading...

उत्तर प्रदेश अलीगढ़ के इगलास कोतवाली क्षेत्र के 1 गांव में 4 वर्षीय मासूम बच्ची को 12 वर्षीय मौसेरे भाई ने हवस का शिकार बनया, इलाज के दौरान बच्ची का दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में निधन हो गया। जहां से पोस्टमार्टम के बाद बच्चे के शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। देर रात बच्ची का अंतिम संस्कार नहीं हो सकने के बाद सादाबाद क्षेत्र का माहौल गरमा गया था। जिसके बाद बच्ची के परिजन शव को लेकर मथुरा रोड पर जाम लगा

loading...

विरोध प्रदर्शन करने लगे शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे उन्होंने समझा-बुझाकर पीड़ित परिवार को शांत कराया।

इस मामले में हुई लापरवाही के चलते एसएचओ इगलास प्रवीण कुमार मान को निलंबित कर दिया गया है। पूरे मामले में इगलास थाने के SO पर लापरवाही बरतने के गंभीर आरोप लगे हैं। शुरुआती कार्रवाई में देरी कर मामले को दबाने के भी आरोप लगे है।

क्या है पूरा मामला

loading...

बता दे हाथरस जिले के थाना सादाबाद की माई चौकी क्षेत्र के 1 गांव निवासी व्यक्ति की पत्नी का जनवरी में निधन हो गया। तीन माह पहले अलीगढ़ इगलास कोतवाली क्षेत्र के 1 गांव निवासी मृतक बच्ची की मौसी अपनी बहन के बच्चों को अपने बेटे की शादी के लिए लिवा लाई। शादी के 15 दिन बाद दोनों बेटों को मौसी छोड़ आई, जबकि दोनों बेटियों को अपने पास ही घर में रख लिया। पूरी वारदात 17 सितंबर की है। जब मौसी के घर के शौचालय में पीड़िता बच्ची गंभीर हालत में पडी मिली। खेल रहे बच्चों ने बच्ची को देखकर शोर मचाया तो गांव के लोग वहां पर इकट्ठा होकर पूरे मामले की जानकारी चाइल्ड लाइन को दी। पुलिस मौके पर पहुंची बच्ची को शौचालय से निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद पता चला कि मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म कुकर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। बता दे बच्चे के नाजुक अंगों पर कीड़े पड़ गए थे। पूरे मामले की जानकारी के बाद पिता ने अपनी साली यानी की पीड़िता की मौसी व उसके 12 वर्षीय बेटे पर आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया। जिसके बाद बच्ची को जेएन मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। जहां उसका इलाज चला रविवार को जेएन मेडिकल कॉलेज से बच्ची को गंभीर स्थिति के चलते दिल्ली के सफदरजंग रफर किया गया। जहां इलाज के दौरान पीड़ित बच्ची को बचाया नहीं जा सका।

पूरे मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एसओ को सस्पेंड कर पीड़ित परिजन को ₹1000000 मदद देने की बात

loading...

पूरे घिनौने कांड के बाद अलीगढ़ के एसएसपी ने SO को सस्पेंड करते हुए जिलाधिकारी की तरफ से पीड़ित परिवार को ₹1000000 सहयोग राशि जाने की बात की गई इगलास थाना क्षेत्र में मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था। जिसके आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हाथरस की 4 वर्षीय पीड़िता के लिए धरने पर बैठकर लोगों ने की इंसाफ की मांग

पूरे बारे में गुस्साए लोगों ने इंसाफ न मिलने पर बच्ची के शव को दफनाने से इनकार करते हुए हाईवे पर ले जाकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिसके बाद प्रशासन ने कड़ी मशक्कत के बाद समझा बुझा बच्ची का अंतिम संस्कार कराया पीड़ित के पिता के मुताबिक 3 महीना पहले उसकी दो बेटियों को उसकी मौसी साथ लेकार गई थी। उसे के लड़के ने बच्ची से दुष्कर्म किया। मेरी बड़ी लड़की को वापस लाया जाए इस मामले में सही आरोपी को पकड़ा जाए पुलिस ने गलत आरोपी को पकड़ा है। बता दे दूसरी तरफ बच्ची की दुखद मौत की सूचना मिलने के बाद इगलास एस ओ पीड़िता के पास पहुंचे वहां पर करीब 50 लोग इंसाफ के लिए धरना दे रहे थे आरोप है कि SO ने इस दौरान मृतक के पिता से जमकर गाली-गलौज करते हुए पीड़िता के पिता को धमकाते हुए गलत रिपोर्ट लिखाने की बात कही पूरे मामले के बाद प्रदर्शनकारियों का गुस्सा और बढ़ गया फिर प्रशासन ने समझा-बुझाकर बच्ची का अंतिम संस्कार करवाया गया है। मौके पर स्थिति शांतिपूर्ण है।

पूरे मामले पर डीएम व एसपी ने दिया बयान

पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए अलीगढ़ के डीएम चंद्र भूषण सिंह व एसएसपी मुनिराज ने एक बच्ची के साथ में उसके मौसेरे भाई द्वारा दुष्कर्म की घटना के मामले में संज्ञान लेते हुए पूरे मामले में थाने में संबंध धाराओं में एफ आई आर दर्ज कर मुख्य आरोपी को जेल भेजने की बात की है।

वहीं लापरवाही के चलते SO इगलास को निलंबित कर पीड़ित परिवार को ₹1000000 आर्थिक मदद की बात कही है।

loading...