loading...

थाने में चोरी का आरोप लगाकर लाए गए नाबालिगों पर थर्ड डिग्री टॉर्चर कर बूरी तरीके से अमानवीय व्यवहार करते हुए कानून की मर्यादा संविधान के कानूनों को तार-तार करते हुए बुरी तरीके से थर्ड डिग्री टॉर्चर किया गया। टॉर्चर का पूरा वीडियो बड़ा ही डरावना है एक समय लगता है कि कहीं अत्याचार से नाबालिग की जान ही ना चली जाए। वीडियो का कुछ अंश देकर आप पूरा मामला समझने की कोशिश करिएगा।

उत्तर प्रदेश दिन पर दिन गुंडे मवाली बदमाश कानून व्यवस्था पर प्रहार कर अपराधिक घटना को अंजाम दे रहे हैं। यानी प्रदेश में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा दूसरी तरफ वर्दी पहनकर कानून की रक्षा करने की शपथ लेने वाले वर्दीधारी इन गुंडों को भी पीछे छोड़ कर चौकी के अंदर कानून को धता बताते हुए नाबालिगों पर थर्ड डिग्री टॉर्चर कर कानून की मर्यादा, संविधान की गरिमा को तार-तार करने से भी बाज नहीं आ रहे।

loading...

पूरा मामला उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले कुंडवार थाना क्षेत्र का है जहां चौकी प्रभारी बंधुआ कला द्वारा थाने में नाबालिग पर थर्ड डिग्री प्रहार कर कानून की धज्जियां उड़ाई गयी ?

loading...

पूरे मामले में आप बखूबी सुन सकते हैं किस प्रकार अपराध किया हो या ना किया हो डंडे या पट्टे की मार के डर से नाबालिगों समेत सभी ने मार से बचने के लिए जुर्म कबूल कर लिया

loading...

खैर ऐसे अत्याचार के आगे सीधे साधारण व्यक्ति घुटने टेक ही देंगे मेरे कहने का तात्पर्य कदापि नहीं है

कि हर आरोपी अपराधी या निर्दोष होता है। लेकिन पूछताछ छानबीन करने का अलग तरीका होता है। क्या 3 डिग्री ही आखिरी तरीका है?

जब थर्ड डिग्री को अवैध करार दिया गया है। तब भी थाने में या फिर उनके संगठनों द्वारा इसका उपयोग क्यों किया जाता है?

इन्हें प्रयोग करने वाले अपराधी प्रवृत्ति वालों के ऊपर क्या कार्यवाही की गई ? पूरे मामले का वीडियो 10 दिन पुराना बताया जा रहा है।

पूरे मामले पर सुल्तानपुर पुलिस के मुताबिक इस पूरी घटना के संबंध में पुलिस अधीक्षक सुल्तानपुर द्वारा संज्ञान लेते हुए चौकी प्रभारी बंधुआ कला थाना कुंडवार को अपने कर्तव्यों के से अलग किए गए कार्यवाही के संबंध में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उनके खिलाफ अन्य विभागीय कार्यवाही की जा रही है!

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here