चित्रकूट गैंगरेप की शिकार पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या की परिजनों ने लगाया गांव के दो युवकों पर गैंगरेप करने का आरोप पुलिस ने मृत्यु के बाद पूरे मामले में केस दर्ज कर कार्यवाही शुरू की, परिजनों के मुताबिक उन्होंने शिकायत की लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की जिसके कारण पीड़िता ने आत्महत्या की पुलिस ने तहरीर न प्राप्त होने की बात कही।

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है पूरे मामले में कई पेंच है। बता दें कि आज से 6 दिन पहले 15 वर्षीय नाबालिग के साथ चित्रकूट के मानिकपुर थाना क्षेत्र के सरैया चौकी के पास एक गांव में परिजनों के मुताबिक 8 अक्टूबर को लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था। पीड़िता की परिजनों ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद वह सरैया चौकी पर गए। और बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना की जानकारी दी, उनके मुताबिक उन्होंने पुलिस वालों से कहा कि हम एक-दो दिन में आरोपियों के नाम पता बता देंगे ताकि उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए, लेकिन पीड़ित के परिजनों के मुताबिक पुलिस वालों ने उनकी कोई रिपोर्ट नहीं लिखी न हीं लड़की की मेडिकल जांच को जरूरी माना। इसी बीच मंगलवार सुबह वह अपनी पत्नी के साथ खेत पर गए हुए थे। घर पर लड़की अकेली थी। पीड़िता के परिजनों के मुताबिक सामूहिक दुष्कर्म की घटना से आहत बच्ची ने इसी बीच फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पूरे मामले पर पुलिस ने बताया कि एससी एसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। अभी गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी। वहीं पीड़ित पिता बार-बार कह रहा है कि उसकी बेटी के साथ गैंगरेप की घटना हुई थी। इसलिए उसने लोक लाज के भय से खुदकुशी कर ली है। पूरे मामले में पुलिस द्वारा डॉक्टरों के पैनल वीडियो रिकॉर्डिंग समेत पोस्टमार्टम कराया जा रहा है पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पूरे मामले की सच्चाई सामने आ सकेगी, सबसे बड़ा सवाल मामले पर चौकी में पीड़ित परिवार की तहरीर आखिर क्यों नहीं दर्ज की गई ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here