तेलंगाना राज्य के खम्मम जिले से सनसनीखेज वारदात सामने आई है। जहां हाउस हेल्फर का काम करने वाली 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ मालिक के बेटे ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने की कोशिश की। जब नाबालिक ने अपने साथ हो रही दरिंदगी का विरोध किया तो मालिक के बेटे ने कथित तौर पर पेट्रोल छिड़ककर नाबालिक को आग के हवाले कर दिया, पुलिस के मुताबिक पीड़िता के बयान के आधार पर 25 वर्षीय आरोपी अल्लम मरैया को गिरफ्तार कर दिया है। पुलिस के मुताबिक बुरी तरीके से घायल नाबालिक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है, उसे एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं आरोपी के पिता सुब्बाराव ने अपने बेटे पर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि उनके बेटे ने लड़की को नहीं जलाया, उसने खुद को आग लगा ली।

पिता ने बिजनेसमैन के यहां बेटी को काम करने के लिए भेजा था।

पुलिस के मुताबिक नाबालिक बच्ची के पिता ने 13 वर्षीय दलित बालिका को बिजनेसमैन अल्लम सुब्बाराव के घर काम करने के लिए भेजा था। 18 सितंबर के दिन सुब्बाराव के बेटे ने बच्ची से दुष्कर्म करने की कोशिश की बच्ची ने इसका पुरजोर विरोध किया तो अल्लम मर्रैया ने गुस्से में आकर 13 वर्षीय नाबालिक बच्ची को पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया। गंभीर अवस्था में जख्मी बच्ची को खम्मम जिले के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां बच्ची जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। सोमवार को बच्ची स्थिती में कुछ सुधार होने के बाद वह होश में आई उसने रेप की कोशिश और जलाए जाने की जानकारी अपने परिजनों को दी। परिजनों की तहरीर पर तुरंत पुलिस ने एक्शन लेते हुए 25 वर्षीय आरोपी अल्लम मर्रैया को गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here