राजधानी दिल्ली के जामिया नगर क्षेत्र में दिल्ली महिला आयोग की टीम को 181 पर शिकायत मिली कि 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची की जबरन शादी कराई जा रही है। पूरे मामले की जानकारी के बाद दिल्ली महिला आयोग ने सोमवार को जामिया नगर में पहुंचकर नाबालिग बच्ची को कच्ची उम्र में बर्बाद होने से बचा लिया।

बता दे पूरे मामले की जानकारी लड़की की गद्दार नहीं फोन करके 181 हेल्पलाइन पर जानकारी दी थी कि लड़की के परिवार वाले 13 वर्षीय नाबालिक लड़की की शादी करवा रहे हैं। उसकी शादी 10 तारीख को होने वाली पूरे मामले की सूचना के बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को जानकारी उन्होंने मेंबर के साथ टीम गठित कर शिकायत कर्ता से संपर्क कर पूरे मामले की जानकारी एकत्र की। शिकायतकर्ता ने पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया 5 अक्टूबर को लड़की की हल्दी की रस्म होनी है। उस दिन पकड़ सकते हैं पूरी प्लानिंग के साथ दिल्ली महिला आयोग की टीम ने 5 अक्टूबर के दिन सोमवार को उस समय पहुंची जब लड़की के हाथों में हल्दी पिसी जा रही थी यानी की शादी की रस्म चल रही थी। टीम ने जब लड़की से पूरे मामले में पूछताछ की तो लड़की के परिजनों ने इस बारे में बातचीत करने से इंकार करते हुए कहा लड़की बालिग है टीम ने जब लड़की के बालिग होने संबंधित मांग पत्र मांगे तो परिजन लड़की के बालिग होने संबंधी प्रमाण पत्र दिखाने में भी असमर्थ रहे। जब पुलिस ने पूरे घर की तलाशी ली, तो उस समय एक कमरे में नाबालिग 13 वर्षीय बच्ची को बंद पाया गया। पुलिस ने वहां से निकालकर परिवार वालों समेत बच्ची को पुलिस स्टेशन ले जाकर पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू की। नाबालिक बच्ची के मुताबिक उसके घर वाले उसे पढ़ने लिखने नहीं देते हैं अब उसका जबरन विवाह करवा रहे हैं। पुलिस ने पूरे मामले में लड़की और उसके परिजनों के बयान दर्ज किए हैं। लड़की को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। जानकारी के साथ जामिया नगर पुलिस स्टेशन में परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। लड़की बाल कल्याण समिति के सामने उपस्थित की जाएगी। दिल्ली महिला आयोग ने पूरे मामले की ट्वीट करते हुए जानकारी दी

उन्होंने इस मामले में बताया कि हमारी टीम दिल्ली जैसे शहर में कितने बाल विवाह रुकवा चुकी है। बचपन में ही छोटी-छोटी बच्चियों की शादी कर उनकी जिंदगी को बर्बाद कर दिया जाता है। इस केस में हमारी टीम ने सतर्कता बरत इस मामले में कार्रवाई करवाया। बाल विवाह एक कानूनी अपराध है। ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त सजा होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here