बुलंदशहर में 22 वर्षीय बीए की छात्रा के साथ अपहरण के बाद सामूहिक दुष्कर्म की वारदात के साथ दरिंदगी, अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत

आखिर क्या हो गया है, राम राज कहे जाने वाले उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को दिन पर दिन गुंडे बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं, दरिंदो की दरिंदगी थमने का नाम नहीं ले रही है अभी हाथरस गैंग रेप केस की आग ठंडी नहीं हुई थी कि बलरामपुर से झकझोर कर शर्मसार कर देने वाला सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है जहां B.COM एडमिशन फॉर्म भरवाने के लिए मंगलवार को b.a. तृतीय वर्ष की छात्रा घर से बाहर निकली छात्रा का अपहरण के बाद सामूहिक दुष्कर्म कर इतना मारा पीटा गया कि उसके कमर के नीचे का हिस्सा काम नहीं कर रहा था। अस्पताल ले जाते समय पीड़िता की रस्ते में ही मौत हो गई। बलरामपुर जिले के गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र की शर्मनाक वारदात ने फिर एक बार झकझोर कर रख दिया है फिलहाल पुलिस ने फौरी कार्रवाई करते हुए पीड़िता के भाई की तहरीर पर मामला पंजीकृत कर दो आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। छात्रा के परिजन शुरू से ही पूरे मामले में अपहरण के बाद सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगा रहे है। फिलहाल पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट को ढाल बनाकर पूरे मामले में सब कुछ साफ करने से इनकार किया है। पूरे मामले में दुष्कर्म व हत्या के मामले में पुलिस ने दो को हिरासत में लिया है।

क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में दलित 22 वर्षीय युवती के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने के बाद हैवानों ने उसे इतना मारा पीटा कि उसके कमर के नीचे का हिस्सा बिल्कुल काम नहीं कर रहा था। पीड़िता की मां के मुताबिक बेटी के कमर के नीचे के हिस्से को तोड़ दिया गया। हैवानों ने इंजेक्शन लगाकर दरिंदगी की घटना को अंजाम दे छात्रा को रिक्से पर बैठा कर घर भेज, आरोपी फरार हो गए इलाज के लिए ले जाते समय पीड़िता की। रास्ते में ही मौत हो गई। नामजद तहरीर के अनुसार दो आरोपियों को गिरफ्तार कर पूरे क्षेत्र को सुरक्षा के लिहाज से छावनी में तब्दील कर दिया गया है। बता दे पूरी वारदात को गैंसडी बाजार स्थित एक खाली पुराने मकान में अंजाम दिया गया है ।

सुनिए बेबस मां का दर्द,

चीखती चिल्लाती मॉ के आरोप के मुताबिक उसकी बेटी सुबह विमला विक्रम महाविद्यालय पंचपेड़वा में बीकॉम में प्रवेश लेने के लिए मंगलवार सुबह 10:00 बजे घर से निकली, कॉलेज से लौटने पर उसे बाजार स्थित मकान में ले जाकर उसके दोस्तों ने दरिंदगी की घटना को अंजाम दे। रिक्शे के द्वारा उसे घर भेज दिया गया रिक्शेवाले ने कुछ बताया भी नहीं, वह कुछ बोल नहीं पा रही थी कमर के नीचे का हिस्सा बिल्कुल काम नहीं कर रहा था। एक हाथ में ग्लूकोस लगाने वाला पाइप लगा हुआ था। बेटी घर आकर बोली “मम्मी पेट में जलन हो रही है”। हम उसे अस्पताल ले गए रास्ते में वह मर गई। बातचीत में महिला की मां के मुताबिक बीए तृतीय वर्ष की छात्रा है। पूछताछ में पीड़िता की मां ने बताया वो कुछ बोल नहीं पा रही थी “सिर्फ इतना कह पाई कि बहुत दर्द है अब मैं बचुगी नहीं”

हाथ पैर कमर तोड़ने वाली बात को पुलिस व डॉक्टरों ने नकारा

बलरामपुर एसपी देव रंजन वर्मा के मुताबिक पीड़िता के हाथ पैर और कमर तोड़ने वाली बात सही नहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

क्या कहा जिलाधिकारी ने?

बलरामपुर के जिलाधिकारी कृष्ण करुपेश के मुताबिक बुधवार की शाम मृतक के भाई की तहरीर पर साहिल व व शाहिद के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या करने का मुकदमा दर्ज कर इलाके में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक 29 सितंबर की सुबह 10:00 बजे बीकॉम में प्रवेश लेने के लिए घर से निकली छात्रा देर शाम तक जब घर नहीं लौटी तो शाम 5:00 बजे के बाद उसकी खोजबीन शुरू हुई शाम 7:00 बजे पीड़िता बुरी तरह घायल अवस्था में एक रिक्शे के जरिए घर आई उसकी हालत देखकर किसी अनहोनी की आशंका जताई गई। बहुत पूछताछ करने पर वह दर्द से कराने लगी। उसके हाथ में भिगो लगा था, जिसके बाद गांव के दो-तीन डॉक्टरों को दिखाने के बाद परिजनों ने उसे इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज ले जाने लगे, जहां रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। परिजनों के आरोप के मुताबिक युवती पचपेड़वा के विमला विक्रम विश्वविद्यालय में बीकॉम एडमिशन के लिए गई थी एडमिशन करा करवा लौट रही थी तभी गांव के ही 5-6 लड़कों ने उसका अपहरण कर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। रिक्से के जरिए घर पहुंची उस पर खून के धब्बे वगैरह काफी मात्रा में थे गली में लड़की की जूतियां भी पाई गई है।

6 घंटे के लगभग चला पोस्टमार्टम

घटना के बाद पुलिस ने युवती के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया पूरे मामले की गंभीरता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि संयुक्त जिला चिकित्सालय के पोस्टमार्टम हाउस में मटक पीड़िता के शव कपूत मास्टर 4 डॉक्टरों के पैनल ने करीब 6 घंटे तक किया इस बीच बलरामपुर की मुख्य चिकित्सा अधिकारी सीएमओ को भी पोस्टमार्टम हाउस पर आना पड़ा जिसके बाद देर शाम मृतक युवती के शव को परिजनों को सौंप दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here