loading...

बस्ती के लालगंज थाने में उपनिरीक्षक के पद पर तैनात विजय प्रताप यादव केस से नाम हटाने की एवज में 40,000 की रिश्वत लेते एसीओ की टीम के हाथ रंगे हाथ गिरफ्तार

loading...

उत्तर प्रदेश अपराध गुंडे मवाली का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा दूसरी तरफ सीएम योगी द्वारा जीरो भ्रष्टाचार की मुहिम भी रंग लाती दिख रही है। उत्तर प्रदेश की गोरखपुर एसीओ की इकाई ने बस्ती जिले के लालगंज थाने में

उप निरीक्षक के पद पर तैनात विजय प्रताप यादव द्वारा शिकायतकर्ता उमेश कुमार चौधरी पुत्र राम लखन चौधरी व परिजनों के थाना लालगंज बस्ती में पंजीकृत मुकदमा 121 बटे 2020 जिसमें धारा 504, 506, 306 में आज विवेचक उप निरीक्षक विजय प्रताप यादव द्वारा मुकदमे में से शिकायतकर्ता व उसके परिजनों के नाम को हटाने की एवज में ₹40000 रिश्वत मांगी जा रही थी।

loading...

शिकायतकर्ता ने पूरे मामले की जानकारी भ्रष्टाचार निवारण संगठन की गोरखपुर इकाई को दी जिसके बाद रिश्वत लेते वक्त एसीओ की टीम ने उप निरीक्षक को रंगे हाथ गिरफ्तार करते हुए रिश्वत के ₹40000 बरामद की है। पूरे मामले को विधिवत समझने के लिए नीचे रिलीज पढ़कर समझने की कोशिश करिएगा।

loading...

(पूरे मामले में किसी भी समय कोई सूचना प्राप्त होने पर तत्काल अपडेट किया जाएगा।)

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here