loading...

उत्तर प्रदेश भारतीय पुलिस सेवा के 13 अफसरों के तबादले के बाद बंपर तबादले किए गए शुक्रवार को भारतीय प्रशासनिक सेवा के 8 अधिकारियों के तबादले कर इन्हें आठ अलग-अलग जिलों का कार्यभार सौंपा गया है। वहां पहले से मौजूद जिला अधिकारियों को प्रतीक्षा सूची में डाला गया है।

कानून व्यवस्था व बिगड़े हालातों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने समीक्षा बैठक के दौरान शुक्रवार देर रात 8 आईएएस अधिकारियों के तबादले किए हैं इनमें से कई जिलों के पूर्व डीएम प्रतीक्षारत यानी कि वेटिंग सूची में डाले गए हैं जानकारी के मुताबिक अभी और ट्रांसफर कानून व्यवस्था की नजर से किए जाने हैं जिनमें कई पीसीएस स्तर के अधिकारियों के भी ट्रांसफर संभव है। वही शुक्रवार शाम 3 तीन आईपीएस अधिकारियों समेत 49 डिप्टी एसपी के तबादले किए गए हैं।

इन्हें मिली इन जिलों की कमान…..

loading...

बता दें कि के बालाजी को मेरठ का जिलाधिकारी, श्रुति सिंह को इटावा, विशाल भारद्वाज को सीतापुर, ए दिनेश कुमार को ललितपुर, रविश गुप्ता को सुल्तानपुर, मंगल प्रसाद सिंह को गाजीपुर, राजेश पांडे को मऊ व दिव्या मित्तल को संत कबीर नगर जिले की जिम्मेदारी सौंपते हुए का डीएम बनाया गया है।

इन्हें डाला गया वेटिंग सूची में…..

जानकारी के मुताबिक मेरठ के अनिल ढींगरा, सीतापुर के अखिलेश तिवारी, ललितपुर के योगेश कुमार शुक्ला, इटावा के जितेन बहादुर सिंह, सुल्तानपुर सी इंदुमती, हमीरपुर के ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व मऊ के ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को अभी प्रतीक्षारत यानी वेटिंग सूची में डाला गया है।

कोरोना कीट घोटाले में चौतरफा घिरी

loading...

सुल्तानपुर- बीजेपी विधायक देवमणि दुबे की मेहनत रंग लाती हुई नजर आ रही है कोविड-19 कीट के मामले में भ्रष्टाचार में चौतरफा घिरी डीएम इंदुमती को हटाकर प्रतीक्षा सूची में डाला गया। उनकी जगह रवीश गुप्ता को सुल्तानपुर की कमान सौंपी गई है दो दिन पहले ही उनके खिलाफ एसआईटी की जांच शुरू हुई थी।

कानून व्यवस्था के मद्देनजर आईएएस आईपीएस से लेकर कई पीसीएस अधिकारियों के अभी हो सकते हैं तबादले

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here