loading...

लखनऊ कृष्णा नगर के स्नेह नगर के शादीशुदा प्रेमी युगल घर से भागकर बरेली में रिश्तेदार के यहां 4 माह से रह रहे थे। जानकारी के बाद राजधानी लखनऊ पुलिस रविवार देर रात बरेली से बरामद कर उन्हें हिरासत में लेकर लखनऊ आ रही थी। इसी बीच प्रेमी युगलों ने रास्ते में जहर जहर खा लिया। जानकारी के बाद उन्हें तत्काल मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। जहां सोमवार सुबह डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस के मुताबिक प्रेम नगर कृष्ण नगर निवासी विकास सोनी के खिलाफ स्नेह नगर निवासी सुषमा रावत ने अपनी बेटी पारुल को भगा ले जाने की एफ आई आर दर्ज करवाई थी। पूरे मामले पर इस्पेक्टर कृष्णा नगर का कहना है 14 अगस्त 2020 को सुषमा रावत ने प्रेमी विकास सोनी के खिलाफ पारुल रावत को ससुराल से भगा ले जाने की एफ आई आर दर्ज करवाई, पारुल की करीब 10 साल पहले जेपी रोड निवासी रिंकू रावत से शादी हुई थी जो कि ऑटो चलाने का का काम करते हैं पारुल के तीन बच्चे हैं पुलिस के मुताबिक सुषमा कृष्ण नगर स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करती है पारुल वहां उसके साथ अक्सर उसकी सहायता करने जाया करती थी। इसी बीच उसकी मुलाकात विकास सोनी से हुई जिसके बाद वह अक्सर पारुल के घर आने जाने लगा इसी दौरान दोनों के बीच नजदीकी बढ़ी और दोनों में प्रेम प्रसंग के बाद मामला परवान चढ़ा इसकी जानकारी के बाद घरवालों काफी समझाया बुझाया। लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा 21 नवंबर 2019 को विकास सोनी पारुल रावत को ससुराल से भगा ले गया काफी खोजबीन के बावजूद कोई सुराग नहीं लगा तो सुषमा ने 14 अगस्त 2020 को विकास सोनी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करवाई। बता दें कि विकास सोनी की शादी दिसंबर 2018 में कल्पना सोनी से हुई थी उसके शादी के 1 साल भी नहीं पूरे हुए थे कि 14 अगस्त 2019 को पारुल को लेकर विकास सोनी लापता हो गया था।

पुलिस को पूरे मामले की जानकारी हुई कि विकास सोनी बरेली के अपने एक रिश्तेदार के यहां विगत 4 माह से रह रहा है जिसके बाद रविवार देर रात कृष्णानगर पुलिस लड़की के भाई व जीजा के साथ बरेली पहुंची और वहां से न्यायालय में बयान के लिए दोनों भागे विवाहित प्रेमी युगल को बरेली से गाड़ी में बैठाकर लखनऊ ला रहे थे रास्ते में दोनों की तबीयत बिगड़ने लगी पहले तो दोनों ने कुछ नहीं बताया लेकिन कुछ समय बाद उन्होंने बताया कि उन्होंने जहर खा लिया है पुलिस ने दोनों को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां सोमवार सुबह डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बता दे ठाकुरगंज की रहने वाली कृष्णा नगर थाने में एफ आई आर दर्ज करवाई थी उसकी शादीशुदा बेटी पारुल को कृष्णा नगर के पास रहने वाले शादीशुदा विकास सोनी भगा ले गया पहले पूरे मामले में पुलिस ने कोई f.i.r. नहीं था जी की थी लेकिन 14 अगस्त 2020 को महिला कि कोर्ट में शरण लेने के बाद कोर्ट के आदेश पर कृष्ण नगर पुलिस ने केस दर्ज किया महिला का तर्क था कि विकास सोनी उसकी बेटी की हत्या कर देगा पूरे मामले में खोजबीन के बाद लखनऊ के कृष्णानगर पुलिस 20 सितंबर को एक टीम के साथ बरेली पहुंची जिसके बाद आरोपी विकास सोनी को गिरफ्तार करने के बाद पारुल रावत को बरामद कर लखनऊ लाए जाने लगा तभी उसने पुलिस से कुछ जरूरी सामान पैक करने का समय मांगा दोनों को जरूरी सामान साथ रखने की इजाजत दे दी गई पुलिस के मुताबिक हो सकता है दोनों ने इसी दौरान जहरीला पदार्थ खा लिया हो रास्ते में उल्टी होने पर उनकी हालत बिगड़ने लगी पहले उन्होंने कुछ नहीं बताया उसके बाद दोनों ने बताया कि उन्होंने जहर खाया है जिसके बाद तुम्हें उनके भाई व सगे शाढू की मौजूदगी में अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक पारुल के घरवाले उसकी हत्या की आशंका जता रहे थे। इसलिए दोनों को कोर्ट के सामने पेश कर बयान करवाने थे।

loading...