मथुरा बिना अनुमति के श्री कृष्ण जन्म स्थान के दर्शन कर श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्त कराने के आंदोलन का बिगुल फूंकने आए हिंदू आर्मी के 22 कार्यकर्ताओं को शांति भंग करने के प्रयास के आरोप में गिरफ्तार कर कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया गया है। बता दे अयोध्या में राम जन्मभूमि के हक में फैसला आने के बाद मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि को मुक्त कराने के लिए आवाज उठने लगी है। ऐसे में हिंदू आर्मी नाम के एक संगठन ने विगत कुछ समय पहले कृष्ण जन्मभूमि को राम जन्मभूमि आंदोलन की तर्ज पर मुक्त कराने का ऐलान किया था। जिसको लेकर हिंदू आर्मी नाम के संगठन ने सोशल मीडिया पर लगातार मुहिम छेड़ रखी थी जिसमें वह सोमवार को मथुरा पहुंचने की बात कर रहे थे इस संगठन ने मथुरा के अलग-अलग स्थानों में पोस्टर चिपका कर 11:00 बजे से आंदोलन के लिए पहुंचने की अपील के साथ ऐलान किया था। पुलिस ने जानकारी दी है करीब दो दर्जन हिंदू आर्मी नाम के संगठन के कार्यकर्ताओं को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मुताबिक पिछले वर्ष लखनऊ में गठित किए गए हिंदू आर्मी नाम के संगठन की ओर से 1 सप्ताह पूर्व जानकारी मिली थी। कि वह लोग 21 सितंबर को मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि को कथित रूप से मुक्त कराने के लिए आंदोलन शुरू करने वाले हैं। जिसको लेकर सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम के साथ पूरे तंत्र को सक्रिय कर दिया गया था। बीती रात से सक्रिय हुए जो भी मथुरा में प्रवेश करते पाए गए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। जानकारी के मुताबिक संगठन के पदाधिकारियों ने इस आंदोलन के लिए किसी भी स्तर पर कोई भी अनुमति नहीं मांगी थी। इनके इरादों को समझने व जानकारी के मुताबिक आईपीसी की धारा 151 के अंतर्गत शहर की शांति भंग करने के चलते सोमवार देर शाम कुल 22 लोगों को विधिक पूर्वक कार्रवाई हेतु मजिस्ट्रेट के पास भेज दिया गया जिनमें अपने आपको हिंदू आदमी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बताने वाला लखनऊ के सरोजनी नगर निवासी मनीष यादव भी शामिल है। बता दे पिछले कुछ दिन पहले हिंदू आदमी के चीफ मनीष यादव ने सोशल मीडिया पर अपने सभी समर्थकों व कार्यकर्ताओं के साथ श्री कृष्ण जन्मभूमि पहुंचकर दर्शन करने की अपील के साथ सोशल मीडिया पर श्री कृष्ण जन्मभूमि आंदोलन की शुभारंभ की जानकारी दी थी जिसके चलते श्री कृष्ण जन्मस्थान पर सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम के साथ आसपास खुफिया तंत्र सक्रिय कर दिया गया था। जिसके बाद खुफिया तंत्र के सहयोग से लखनऊ से आने वाले हिंदू आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत 9 को थाना राय पुलिस व 13 पदाधिकारियों को सदर बाजार पुलिस ने हिरासत में लिया। वहीं सुरक्षा के मद्देनजर श्री कृष्ण जन्म स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए सुरक्षा की दृष्टि से अधिक व्यक्ति के प्रवेश व भीड़ इकट्ठा हो इसके भी इंतजाम किए गए हैं। पूरे मामले में सीओ सिटी वरुण कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गए सभी को शांतिभंग करने के आरोप में पकड़ सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय में प्रस्तुत किया गया। एसपी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में लखनऊ गोरखपुर गोंडा बस्ती अयोध्या के साथ ही राजस्थान के जयपुर कोटा मध्य प्रदेश के लोग शामिल है। जानकारी के मुताबिक इस संगठन का राजधानी लखनऊ में 1 वर्ष पहले गठन कर अलग-अलग हिस्से में इसके सदस्य बनाए गए हैं। वही द टेलीग्राफ ने इस आंदोलन को वर्ष 2022 के चुनाव में भाजपा के एजेंडे से जोड़कर बताया है।

प्रशासन की बिना अनुमति के आंदोलन, हिंदू आर्मी के राष्ट्राध्यक्ष ने कहा अनुमति मांगी थी अनदेखा किया गया

जानकारी के मुताबिक स्थानी प्रशासन की अनुमति के बिना रविवार को बड़ी संख्या में हिंदू आर्मी नाम के संगठन के सदस्य मंदिर के आसपास इकट्ठा होने लगे गतिविधियों के संचालित करने की कोशिश के चलते उन्हें रोकने के लिए भारतीय दंड संहिता 22 की धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया। वहीं इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई। जिसके चलते कोई भी आंदोलन नहीं चलाया जा सकेगा। गिरफ्तार लोगों के खिलाफ शांति भंग में चालान काटा गया है। पूरे मामले में हिंदू आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बताने वाले शख्स मनीष यादव ने बताया कि उन्होंने प्रशासन से आंदोलन के लिए अनुमति मांगी थी। लेकिन मथुरा प्रशासन द्वारा उसे अनसुना कर दिया गया उनका तर्क है कि व कृष्ण जन्मभूमि के पास इस्लामिक ढांचे को हटाना चाहते हैं ताकि वह अयोध्या की तर्ज पर कृष्ण जन्मभूमि के नाम सौंपकर कर विवाद खत्म हो सके। बता दे मथुरा में शाही ईदगाह बा ज्ञानवापी मस्जिद का मामला स्थानीय कोर्ट में पेंडिंग है।

22 हिंदू आर्मी के कार्यकर्ता गिरफ्तार कल शांति भंग में भेजे गए जेल सर्वाधिक लखनऊ के शामिल

शांति भंग में सदर क्षेत्र में राजधानी लखनऊ के आशियाना निवासी कार्तिक वर्मा, हिमांशु रघुवंशी, लखनऊ के किंतु नगर निवासी सत्येंद्र तिवारी, लखनऊ के आलमबाग निवासी अनिल कुमार सिंह, लखनऊ के काशमाखेड़ा बंथरा निवासी सुनील कुमार यादव, सूरजभान, अमित, सदानंद, अर्पित तिवारी आदि को सदर थाने में सफारी गाड़ी से पकड़ा गया। जबकि राया थाने से 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिनमें राजधानी लखनऊ के सरोजनी नगर निवासी मनीष यादव, लखनऊ के भोजाना निवासी जयंत सक्सेना, लखनऊ के सरोजनी नगर निवासी आंशु पांडे, उन्नाव निवासी नरेंद्र कुमार, आशुतोष कुमार, जितेन साहू, लखनऊ के ऐशबाग निवासी रमन पवन कुमार व मेरठ के प्रणव कुमार शुक्ला समेत 22 हिंदू आर्मी के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर शांति भंग के आरोप में जेल भेजा गया है।

सुरक्षा के मद्देनजर चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं जिले व शहर में हालात पहले की तरह सामान्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here