राजधानी दिल्ली से दुख भरी खबर सामने आ रही है हाथरस की 19 वर्षीय दलित गैंगरेप पीड़िता जिसकी गैंगरेप के बाद बेखौफ दरिंदों ने जुबान तक काट दी थी। जिस्म पर गंभीर जख्मों के साथ दरिंदगी का शिकार जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही पीड़िता दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल में आज जिंदगी की जंग हार गई। पूरे मामले में दरिंदों को बचाने के पुलिस पर लगातार गंभीर आरोप लगते रहे है। लगे पूरे मामले में आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप की धारा लिखने में 1 सप्ताह लग गया, पूरा मामला 14 सितंबर का है। एक-एक कर आरोपियों को भेजा गया जेल।

क्या है पूरी वारदात

हाथरस सामूहिक दुष्कर्म की शिकार चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव की निवासी 19 वर्षीय पीड़िता का मंगलवार सुबह 6:00 बजे दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल में इलाज के दौरान मौत हो गई। बता दे पीड़िता को गंभीर हालत के बीच लाइफ सपोर्ट सिस्टम के साथ एंबुलेंस से कड़ी सुरक्षा के बीच अलीगंज से दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बीच आज पीड़िता जिंदगी की जंग हार गई। 14 सितंबर कि सुबह गायों के लिए चारा लेने निकली थी तभी पीड़िता का अपहरण कर उसके साथ मारपीट करते हुए चार लड़कों ने दरिंदगी यानी कि गैंगरेप की घटना को अंजाम देते हुए उसकी जीभ काट दी थी। काफी खोजबीन के बाद पीड़ित लड़की खून से लथपथ अवस्था में मिली जिसे तुरंत ई-रिक्शा से हॉस्पिटल ले जाया गया। बता दे पीड़ित लड़की के मुताबिक (हाई कास्ट) के चार युवकों ने उसके साथ दरिंदगी की घटना को अंजाम देते हुए जान से मारने की कोशिश की पूरे मामले में पहले पुलिस गैंगरेप की घटना से इंकार करती रही बाद में दबाव के बाद रेप की घटना को गैंगरेप की घटना में बदला गया। यह सब करने में पुलिस को करीब 1 सप्ताह के ऊपर का समय लग गया। एक-एक कर चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। परिजनों ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं।

सोमवार को हालत नाजुक होने के चलते अलीगढ़ से दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल रेफर किया गया था

14 सितंबर को पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद हैवानियत सर उस पर जानलेवा हमला किया गया जिसके बाद गंभीर रूप से घायल अलीगढ़ हॉस्पिटल में भर्ती पीड़िता को सोमवार को हालत बिगड़ने की वजह से दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल रेफर किया गया था जहां इलाज के दौरान आप सुबह 6:00 बजे पीड़िता ने दम तोड़ दिया। पीड़िता प्ले बयान देते हुए अपने साथ चार युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने की घटना की जानकारी दी पीड़िता के मुताबिक विरोध करने पर उन लोगों ने गला घोट कर मारने की कोशिश की। बरहाल पुलिस जीभ काटने की घटना से इनकार करते हुए इसे निराधार बताया है पूरे मामले में पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर सिंह ने भी पीड़िता की मौत की पुष्टि की है।

संदेह पूर्ण रहा है पुलिस का रवैया, ग्रामीण

हाथरस दलित लड़की के साथ गैंगरेप के बाद हैवानियत करते हुए उसकी जीभं काट, रीड की हड्डी तोड़ कर दुपट्टे से गला घोटकर हत्या करने की कोशिश की गई। पूरे मामले में पुलिस का रवैया शुरू से ही संदेह पूर्ण रहा है 14 सितंबर की घटना में देर से कार्यवाही की गई। फिर हाल चारों आरोपी गिरफ्त में है पुलिस पूरे मामले में छेड़खानी का मामला बताकर दबाव बनाती रही पूरे मामले में भीषण दबाव के बाद गैंगरेप का मुकदमा दर्ज हुआ। बरहाल जुबान काटने वाली घटना को पुलिस निराधार यानी फेक न्यूज़ बताती रही है।

मामले पर हाथरस पुलिस का खंडन द्वारा अपना पक्ष

हाथरस गैंगरेप केस में नया मोड़

हाथरस गैंगरेप मामले में नया मोड़ अलीगढ़ केएमसीएच हॉस्पिटल से आई युवती की मेडिकल रिपोर्ट में नहीं हुई है दुष्कर्म की पुष्टि, सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर प्रशासन द्वारा गांव को छावनी में तब्दील किया गया है। दिल्ली से हाथरस पैतृक गांव मृतक पीड़िता का शव लाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here