कानपुर- दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के सहयोगी 50000 के ईनामी उमाकांत शुक्ला ने आज शनिवार चौबेपुर थाने में अनोखे अंदाज में सिलेंडर किया। बता दें उमाकांत शुक्ला को विकास दुबे की आंख कान कहां जाता था। पुलिस एनकाउंटर से डरे हुए कुख्यात अपराधी उमाकांत शुक्ला ने चौबेपुर थाने में गले में तख्ती बांधकर पत्नी और बच्चों के साथ पहुंच जमीन पर लेट रहम की भीख मांगते हुए सरेंडर किया हैं।

उमाकांत शुक्ला गले में सरेंडर की तख्ती बांध चौबेपुर थाने के बाहर लेट कर बच्ची से थाने को अवगत कराया। उमाकांत शुक्ला की तख्ती पर लिखा था मेरा नाम उमाकांत शुक्ला उर्फ पवन पुत्र मूलचंद निवासी बिकरू थाना चौबेपुर है मैं विकास दुबे के साथ शामिल था मुझे पकड़ने के लिए रोज पुलिस द्वारा तलाश की जा रही है जिससे मैं बहुत डरा हुआ हूं हम लोग द्वारा घटना की गई थी उस पर हमें बहुत आत्मग्लानि है मैं खुद पुलिस के सामने हाजिर हो रहा हूं मेरी जान की रक्षा की जाए मुझ पर रहम किया जाए। वीडियो में बखूबी देख सकते हैं किस प्रकार जमीन पर लेटा हुआ उमा शंकर शुक्ला बगल में खड़ी पत्नी और सामने पीले रंग के लिबास में बेटी जो पुलिस को अवगत करा रही है।

पुलिस के मुताबिक यह मुठभेड़ में मारे गए दुर्दांत अपराधी विकास दुबे का खास साथी उमाकांत शुक्ला है जिसने पुलिस एनकाउंटर की दहशत के चलते अपनी पत्नी बच्चों के साथ आज चौबेपुर थाने में सरेंडर किया है। बता दे पुलिस कई जगह पर छापेमारी करते हुए 50000 के इनामी उमाकांत शुक्ला उर्फ़ बऊवान को लगातार खोज रही थी लेकिन पुलिस उसे पकड़ने में अब तक नहीं पकड़ पाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here