राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद का ऐतिहासिक फैसला देने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। करीब 5 शताब्दी बाद लंबे इंतजार के बाद राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का इंतजार कर खत्म हो रहा है यानी आज भूमि पूजन होने जा रहा है इस ऐतिहासिक दिन सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई का कोविड-19 संक्रमित पाया जाना दिल को झकझोर देने जैसा महसूस हो रहा है।

वह देश के पहले शख्स नहीं है इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा तमिल नाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया व सांसद कीर्ति चिदंबरम केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान समेत कई दिग्गज हस्तियां कोविड-19 के संक्रमण का शिकार हुई है।

देश में बड़ी तेजी से कोविड-19 का प्रसार हो रहा है देश में अब तक कोविड-19 के 18 लाख से अधिक संक्रमित मरीज पाए जा चुके हैं जबकि इनमें से 38000 लोगों की इस जानलेवा वायरस के चलते मौत हो गई है।

अपडेट

अयोध्या में भूमि पूजन

5 अगस्त दिन बुधवार अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 साल बाद राम जन्मभूमि पर पहुंचकर शिलान्यास कर रहेतो दूसरी तरफ पिछले वर्ष नवंबर माह में राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद का शांतिपूर्ण हल करने वाले जस्टिस रंजन गोगोई कोविड-19 से संक्रमित पाए गए, बता दें सीजेआई रंजन गोगोई ने पेचीदा विवादित फैसले को शांतिपूर्ण हल कर विवादित स्थल पर पूरा प्राचीन साक्ष्यों के आधार पर राम मंदिर निर्माण का फैसला किया, जबकि मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के लिए अयोध्या में किसी अहम जगह पर 5 एकड़ जमीन मुहैया कराने का फैसला दिया था। जिसे सभी ने शांतिपूर्ण तरीके से मानते हुए कोर्ट के डिसीजन का स्वागत किया था। इस तरह राम जन्मभूमि बाबरी विवाद का शांतिपूर्ण अंत हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here