loading...

सीमा पर चीन से तनाव के बीच भारत ने एपीजे अब्दुल कलाम दीप से 5000 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अग्नि-5 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल प्रशिक्षण कर लिया है यह मिसाइल भारती सेना की ताकत बढ़ेगी बढ़ाने के साथ ही दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है बुधवार को भारतीय वैज्ञानिकों ने सतह से सतह पर मार करने वाली बैलेस्टिक अग्नि 5 मिसाइल का सफल परीक्षण शाम 7:50 पर मिसाइल को लांच करते हुए पूरा कर लिया है भारत सरकार ने इस मिसाइल के प्रयोग के लिए भी नो फर्स्ट यूज की पॉलिसी को साफ किया है यानी उसकी नीति किसी भी हथियार का पहले इस्तेमाल करने पर नहीं है ऐसे में भारत सिर्फ अपनी सुरक्षा दुश्मनों के खतरे को देखते हुए शांति बनाने के लिए कर रहा है अगर किसी दुश्मन ने भारत की शांति व्यवस्था को भंग करने की कोशिश की तो उसे भारत मुंहतोड़ जवाब दे सकता है बेहाल चीन और पाकिस्तान जैसे भारत के दुश्मन देश इस मिसाइल की असली मारक क्षमता यानी रेंज पर बहस कर रहे हैं। साडे 17 मीटर लंबी 2 मीटर चौड़ी यह मिसाइल 15 किलोग्राम परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है अगर इसकी स्पीड की बात की जाए तो यह आवाज की गति से 24 गुना तेज यानी एक सेकंड में 8.16 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए सटीकता के साथ टारगेट को ध्वस्त की क्षमता रखती है। इसके अलावा अग्नि-5 एम आई आर वी तकनीक काफी एडवांस है जिसके जरिए या कई हथियार ले जाने में सक्षम है इसके जरिए मिसाइल से एक साथ कई टारगेट को ध्वस्त किया जा सकता है

loading...