loading...

अमेरिकी रक्षा रिपोर्ट खुलासा हुआ है कि अरुणाचल प्रदेश में 1 नवंबर 2020 तक चीन ने साडे 4 किलोमीटर दूर एक गांव का निर्माण करते हुए उसका विकास किया है। चीन से जुड़े सैनी विकास पर वार्षिक संयुक्त राज्य रक्षा विभाग की रिपोर्ट में वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलओसी पर तनाव की अमेरिकी धारणा का विवरण देते हुए रिपोर्ट दी गई है कि अरुणाचल प्रदेश में एक्सो घर का चीनी गांव का निर्माण किया गया है। इस रिपोर्ट को पहले ही एनडीटीवी द्वारा सरकार को आगाह करते हुए सैटेलाइट तस्वीरों के जरिए दिखाया गया था।

loading...

जिस क्षेत्र में चीनी एक गांव का निर्माण किया है वहां चीन में 1 दशक से अधिक समय तक एक छोटी सी चौकी बना रखी थी 2020 में स्थिति में भारी बदलाव आया जब भारत और चीन की गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई इसी बीच क्षेत्र के अंदर चीन ने एक गांव का विकास करते हुए सड़क निर्माण की गतिविधियां शुरू कर दीं। बता चीनी कमलेश्वर कार्यक्रम के दौरान प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तिब्बत के क्षेत्र में बुनियादी ढांचे को मजबूत करते अरबों डॉलर की सीमावर्ती कस्बा में सड़क और रेल का बुनियादी ढांचा बिछाकर 600 से अधिक पूर्ण विकसित गांव की योजना पर काम कर रही है जिसके जरिए क्षेत्र में बड़ी उपस्थिति दर्ज कराते हुए क्षेत्र में बदलाव करने की रणनीति पर काम कर रहा है इससे पहले लद्दाख के गलवान घाटी में भीषण संघर्ष दोनों सेनाओं के बीच हो चुका है जिसमें 20 से अधिक भारतीय जवान शहीद हुए जबकि 40 से अधिक चीनी सैनिक मारे गए या तो जख्मी हुए थे।

अमेरिकी रक्षा रिपोर्ट में जिक्र करते हुए कहा गया कि चीन तेजी से सक्षम सेना और उसकी वैश्विक महत्वकांक्षी द्वारा प्रस्तुत पर सिंह चुनौती को पूरा करने के महत्व को दर्शाती है।

loading...

Credit-विस्तृत जानकारी के लिए एनडीटीवी की खबर देखें

loading...