20मार्च विश्व गौरैया दिवस के अवसर पर मणिप्राण संगठन द्वारा संगठन के अध्यक्ष:मंशूभाई के नेतृत्व में रैली-जूलूस का आयोजन किया गया है| जिसमें उपस्थित सदस्यों एंव विद्यार्थियों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया ,तथा पक्षी बचाओं अभियान से जुड़कर गौरैया तथा अन्य पक्षियों के संरक्षण के लिये हर संभव प्रयास करने का संकल्प लिया है।

आ जाओ हे मेरे घर आँगन की रानी
बस जाओ दिल मे लेकर याद पुरानी
गीत सुनाओ प्रीत लगाओ ,
संघ मुझको भी उड़ना सिखलाओ |
बच्चे-बछड़े,बूढ़ी अम्मा, गाय-भैंस और दादा-बाबा
इन सबकी तुम प्यारी गौरैया,
डाल-डाल और पात-पात पर
उछल-कूदकर तुम इनका मन बहलाओ |
भूंख लगे तो चुन लो दाना,प्यास लगे तो पीलो पानी
पर मेरे घर-आँगन से रूठ न जाना
ऐ मेरी मोहब्बत तुम साथ निभाना |
मैने बनाये घर मे ताखे-झरोखे अनेक
मैने लगाये है बैर-बबूल के पेड़ अनेक
तुम्हारे रहने का किये हम जतन अनेक.|
आ जाओ याद तुम्हारी आती है,
जब तुम फुदक-फुदक कर नन्हे कीड़ों को खाती हो
आइने में खुद को देख लड़ती और झगड़ती हो |
कितना अच्छा लगता था ,
जब तुम संघ चुन-चुन भोजन करती थी |

21 मार्च विश्व वानिकी दिवस
………………………………….
21 मार्च विश्व वानिकी दिवस के अवसर पर मणिप्राण संगठन के द्वारा कार्यालय स्थल:बाकरगंज(फैजाबाद-अकबरपुर रोड),जिला-अयोध्या से रैली का आयोजन किया गया|

मणिप्राण संगठन के राष्ट्रीये अध्यक्ष: मंशूभाई की अगुवाई में इन्द्रजीत पाल(मंडल उपाध्यक्ष:अयोध्या) तथा श्रेया सोनल ने कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाई |

उपस्थित: मणिप्राण संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष: मंशूभाई
मीडिया प्रभारी: सुरेन्द्र कुमार, पंकज कुमार, अंकित गौड़, विशाल कुमार, अंशिका वर्मा, अंकुर वर्मा, अभिषेक मिश्र, आलोक यादव,कोमल वर्मा, कंचन वर्मा, शिवांगी,प्रिया, लक्ष्मी,गोल्डी, मोहम्मद अजहर, मोहम्मद इमरान,रतन जयसवाल,सबनम, आदि लोग उपस्थित रहे |

कार्यक्रम में पर्यावरण से सम्बधित विचार गोष्ठी तथा पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया | जिसमें चंदन गौड़ को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ |

तथा श्री नरेन्द्र वर्मा जी के विचारों से प्रभावित होकर मंशूभाई के द्वारा एक मौलश्री का पौधा उपहार स्वरूप भेंट मे प्रदान किया गया | साथ में पर्यावरण के साथ-साथ गांव विकास पत्र पर चर्चा की गई |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here