loading...

उत्तर प्रदेश के सीएम और डीजीपी भले ही पुलिस को आम जनता के साथ प्यार से पेश आने की सलाह देते हों, लेकिन उनका ही विभाग इसे गंभीरता से नहीं लेता हुआ दिख रहा है। बुधवार को आजमगढ़ में 8 साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद हुई मौत मामले में कार्रवाई नहीं होने पर परिवार का युवक SP के वाहन के आगे आकर गाड़ी रोकने लगा ताकि उन्हें पत्र दिया जा सके। गाडी रोके जाने से एसपी सुधीर भड़क उठे।  तैस में गाड़ी उतरे और युवक को पकड़ कर लोगों के सामने ही सारेराह पिटाने लगे। (वीडियो में पुरा मामला देखकर समझ सकते है)

loading...

पुलिसकर्मियों ने  युवक को पकड़कर एसपी ऑफिस में बैठा लिया। क्या न्याय माँगना आपराध है ?

बाता दे रौनापार थाना क्षेत्र में एक 8 वर्षीया बच्ची बीते शुक्रवार सुबह घर से कुछ दूरी पर अर्धनग्न अवस्था में मिली थी। बच्ची की स्थिति देख कर रेप की आशंका जतायी गई।  बच्ची को परिजन जिला अस्पताल ले गए जहां से उसे जीयनपुर स्थित प्राइवेट अस्पताल में रेफर कर दिया गया।
  रौनापार थाने की पुलिस बच्ची को महिला अस्पताल भेजा जहाँ से हालत गंभीर होने पर वहां से उसे मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया भा। जहाँ शनिवार की रात पीडित बच्ची की मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में निमोनिया से मौत सामने आई है ।

loading...

घटनाक्रम का वीडियो सामने आने के बाद रेप के मामले ने तूल पकड़ लिया। अब SP सफाई देते नजर आ रहे हैं। सुने SP की सफाई••○○○○

loading...

पीडित महिला का आरोप है कि 8 अक्टूबर के दिन उसकी 8वर्षिय बेटी दुकान पर सामान लेने जा रही थी। इसी दरम्यान रास्ते में उसके साथ दीपक पासवान ने छेड़खानी की। जिसका उसकी बेटी ने विरोध किया। इसी रात में दीपक ने बेटी का अपहरण कर उसके साथ रेप किया। अगले दिन की सुबह 5 बजे उनकी बच्ची गांव के बाहर रोड पर बेहोशी की हालत में मिली थी। पुलिस ने तहरीर के बावजूद इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। न्याय दिलाने के बजाय पुलिस के साथ मिलकर चलने का दबाव बनाया। मामले लीपा-पोती से नाराज होकर परिजन ग्रामीणों के साथ बुधवार को SP ऑफिस पहुंचे जहां SP सुधीर का यह रुप देखने को मिला है।

पुलिस द्वारा जारी सफाई •••••••••••••••••••••।

पुलिस की यह कार्य प्रणाली साफ तौर पर यह बता रही है कि बच्ची के साथ कुछ तो हुआ है, आखिर किसे छुपाने की कवायद में पुलिस का पुरा महकमा जुटा हुआ है ?

कब मिलेगा बच्ची को न्याय?

आगर कन्या को न्याय नहीं दिला सकते तो कन्या पूजान व्यार्थ है ।

विशाल गुप्ता की रिपोर्ट

loading...