loading...

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की कमासिन तहसील में यमुना नदी किनारे बसे लखनपुर गांव में पानी पर तैरता हुआ पत्थर चर्चा का विषय बना है इसका वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन पूरे मामले की वैज्ञानिक जांच करा रहा है जबकि ग्रामीण लोग इस मामले को आस्था से जोड़कर देख रहे हैं। ग्रामीणों के मुताबिक यह त्रेता युग में बने रामसेतु का पत्थर है।

वहीं जानकारों के मुताबिक कहीं-कहीं ऐसे पत्थर पाए जाते हैं जो ऊपर से ठोस दिखाई देते हैं लेकिन अंदर से बारीक बारीक छेद होने के चलते खोखले होते हैं इन क्षेत्रों में हवा भरी होती है जिसकी वजह से उनका वजन हल्का हो जाता है जिसके चालते ऐसे पत्थर आसानी से पानी पर तैरने लगते हैं। आस्था और विज्ञान दोनों अपनी जगह पर है पत्थर का वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन इसकी जांच कराने में जुट गया है।

loading...