कर्नाटक राज्य के बेंगलुरु गैंगरेप केस का वीडियो पूर्वोत्तर भारत और बांग्लादेश में वायरल होने के बाद चार पुरुष दो महिलाओं समेत 6 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है पीड़ित महिला भी मिलता बांग्लादेश की निवासी है। वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद बेंगलुरु पुलिस बेंगलुरु पूर्व में स्थित घटनास्थल पर पहुंची जिन्हें पूछताछ के लिए थाने ले जाने के बाद घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान दो आरोपी वहां से भागने की कोशिश करने लगे उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने उनके पैरों पर गोली चलाई। यह पूरी घटना बेंगलुरु पूर्व के राममूर्ति नगर की एक तीन मंजिला मकान में एक बांग्लादेसी मूल की महिला के साथ रेप दरिंदगी की घटना घटित हुई जिसका वीडियो पूर्वोत्तर भारत समेत बांग्लादेश में वायरल होने के बाद बेंगलुरु पुलिस हरकत में आई जिसने चार पुरुष आरोपियों के साथ दो महिला आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

भारत सरकार द्वारा जनहित में जारी..

जो कि इस वीडियो में बखूबी दिख रही है। बता दे जांच के दौरान पुलिस आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई। जहां चन्नासांद्रा इलाके के पास चार में से दो आरोपी पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश करने लगे ये आरोपी इस इलाके में किराए के घर में रहते थे, आरोपी जगी के बारे में अच्छे से परिचित थे गहमागहमी में पुलिस को आरोपियों पर गोली चलानी पड़ी जिनमें से दो आरोपियों के पैरों में गोली लगी जिन का इलाज अस्पताल में चल रहा है। पीड़ित महिला बांग्लादेश की की बताई जा रही है जिसकी खोजबीन फिलहाल की जा रही है।

इस मामले पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा नेहा मानकीकृत करार देते हुए कहा इस तरह की घटना को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जा सकता दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

वहीं कर्नाटक के गृहमंत्री बसवाराज बोम्मई ने पत्रकारों से कहा- केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने घटना के बारे में ट्वीट किया और बेंगलुरु पुलिस ने कुछ घंटों में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया उन्होंने आगे बताया सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता और सभी आरोपी बांग्लादेश के रहने वाले हैं।

बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने ट्वीट कर बताया-

जाँच – पड़ताल। अब तक सामने आई जानकारी के मुताबिक ये सभी एक ही गुट के हैं और माना जा रहा है कि ये बांग्लादेश के रहने वाले हैं. पीड़िता जो एक बांग्लादेशी भी है, उसे तस्करी के लिए भारत लाया गया था और एक वित्तीय मामले के कारण उसे प्रताड़ित और क्रूर किया गया था।जांच पूरी गंभीरता से व वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में की जा रही है।

पीड़िता को खोजने के लिए पुलिस टीम को और उसके देश भी भेजा गया है ताकि उसे जांच में शामिल किया जा सके अब तक के तत्वों के मुताबिक इस तरह के सामान समूह और माना जाता है बांग्लादेश से हो पीड़िता भी बांग्लादेशी है तस्करी के नीचे भारत में शामिल हो गई और भ्रमित हो गई पैसे के मामले में क्रूरता का शिकार हुई।

बेंगलुरु गैंगरेप केस, क्या है पूरा मामला

कथित तौर पर बांग्लादेशी नागरिक जो मानव तस्करी का एक गिरोह हो सकते हैं में पैसे के मामले के लेनदेन के बीच चार पुरुषों के साथ 2 महिलाओं समेत छह लोगों द्वारा महिला के साथ गैंगरेप साथ हैवानियत की घटना को अंजाम दिया गया। महिला के प्राइवेट अंगों में शराब की बोतल के प्रहार के साथ लातों से प्रहार किया गया जिस मामले का वीडियो बांग्लादेश से लेकर पूर्वोत्तर भारत में प्रसारित है। (जिसकी एक कापी- vshindinews पूरे मामले पर खबर लिखने के बाद सबूत के तौर सुरक्षित रख रहा है)

पूरे मामले की सुरक्षित वीडियो सबूत के साथ स्क्रीनशॉट सम्मिट

वीडियो में बखूबी दिखा रहा है इस घटना में शामिल बेंगलुरु के 23 वर्षीय रहीमुद्दीन इस्लाम सागर, 30 वर्षीय मोहम्मद बाबू सहीक, 25 वर्षीय हृदयोय बाबू व 30 वर्षीय हकीम जोकि हैदराबाद का रहने वाला है के साथ दो अन्य महिलाएं वीडियो में बखूबी देखी जा सकती हैं।

बेंगलुरु के पूर्व पुलिस उपायुक्त एचडी शरणप्पा के मुताबिक 25 वर्षीय हृदयोय और 23 वर्षीय रहमुद्दीन इस्लाम सागर ने पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश की इस दौरान पुलिस को गोलियां चलानी पड़ी जो कि उनके पैरों में लगी जिसके बाद उनका इलाज हॉस्पिटल में चल रहा है। पत्रकारों के पूछने पर कि क्या यह मानव तस्करी से जुड़ा मुद्दा है इस पर कहा इस वक्त हमारे लिए यह गैंगरेप का मामला है अभी इसी एंगल पर जांच कर रहे हैं बाकी के मामले बाद में देखेंगे।

विशाल गुप्ता की रिपोर्ट..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here