loading...

नाम- भूपेंद्र भाई रजनीकांत पटेल
उम्र- 59 वर्ष
शैक्षणिक योग्यता- सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा
सियासी सफर- 2010 से 15 के दौरान भी अहमदाबाद के ही थलतेज वार्ड से पार्षद, 2017 में आनंदीबेन पटेल की अहमदाबाद की घाटलोदिया विधानसभा सीट से 1,17000 मतों से विजय (पहली बार विधायक बने हैं)

loading...

करीबी– गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल,नरेंद्र मोदी, r.s.s. यानी संघ, अमित शाह के साथ पटेल समुदाय में अच्छी खासी पकड़

पता– अहमदाबाद के शिलाज इलाके के रहने वाले (गुजरात)

(13 सितंबर 2021 से गुजरात के मुख्यमंत्री)

loading...

गुजरात के नए मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेंद्र भाई रजनीकांत पटेल के नाम का बीजेपी विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया जिसके बाद आनंदीबेन पटेल के बेहद करीबी अहमदाबाद की घाटलोदिया विधानसभा सीट से विधायक, 2017 में पहली बार विधायक बने उनके लिए पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने अपनी यह सीट खाली कर दी थी। आनंदीबेन पटेल की तरह भूपेंद्र भाई पटेल कडवा पाटीदार समुदाय का विशेष तौर पर प्रतिनिधित्व करते हैं।

कौन है भूपेंद्र पटेल | कौन है भूपेंद्र रजनीकांत भाई पटेल | कौन है भूपेंद्र भाई पटेल

बता दे भूपेंद्र पटेल कड़वा पाटीदार समाज से आने वाले आनंदीबेन पटेल के बेहद करीबी आर एस एस से लंबे समय तक जुड़े रहे। भूपेंद्र भाई पटेल (दादा) पटेल समुदाय में अपनी अच्छी खासी राजनीतिक पकड़ रखते हैं। 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में वे पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की अहमदाबाद की घाटलोदिया सीट से 1,17000 मतों से जीत दर्ज करके पहली बार विधायक बने थे। ऐसे में इनकी अपने समुदाय के साथ क्षेत्र में काफी लोकप्रियता हुई है लोग इन्हें प्रेम से दादा कहकर संबोधित करते हैं। बीजेपी के समर्पित कार्यकर्ता रहने के साथ ही भूपेंद्र पटेल अमित शाह नरेंद्र मोदी के साथ आर एस एस के भी बेहद ही करीबी नेताओं में गिने जाते हैं। वही गुजरात में चुनावी लिहाज से पटेल समुदाय निर्णायक भूमिका निभाता रहा है। जिनकी वोट बैंक में भूपेंद्र भाई पटेल की खासी पैठ है। लंबे समय से ये विकास के लिए कई काम करते आ रहे थे। लंबे समय से वे सरदार विश्व पाटीदार केंद्र के एक ट्रस्टी के तौर पर रहे हैं।

loading...

बीजेपी से गुजरात में पाटीदार समुदाय खासा नाराज चल रहा है इस वर्ग को मना कर आगामी दिसंबर 2022 में बीजेपी की नैया पार कराने के लिए भूपेंद्र पटेल को नए मुख्यमंत्री के तौर पर सोमवार 13 सितंबर 2021 को शपथ दिलाई जाएगी। ऐसा राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है।

नरेंद्र मोदी और आनंदी बेन के गुजरात के सीएम रहते अहम जिम्मेदारी संभाल चुके हैं भूपेंद्र भाई पटेल

भूपेंद्र भाई रजनीकांत पटेल सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर राजनीति में आने से पहले अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण यानी AUDA के अध्यक्ष रह चुके हैं। वही जब आनंदीबेन पटेल को मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा तो उन्होंने अपनी सीट से भूपेंद्र पटेल को चुनावों लड़ाया। वहीं गुजरात की नरेंद्र मोदी सरकार के समय 1999 से 2000 के बीच पटेल अहमदाबाद नगर पालिका की स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष रहे। 2008 से 10 के बीच अहमदाबाद नगर पालिका स्कूल बोर्ड के उपाध्यक्ष रहे और 2010 से 15 के दौरान भी अहमदाबाद के ही थलतेज वार्ड से पार्षद रह चुके हैं उन्होंने 1,17000 से अधिक मतों से 2017 में कांग्रेश के शक्ति कांत पटेल को हराकर जीत दर्ज की आज वे गुजरात के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं।

भूपेंद्र भाई पटेल होंगे गुजरात के नए मुख्यमंत्री, बीजेपी विधायक दल की बैठक में फैसला, कल लेंगे सीएम पद की शपथ

कैसे बने भूपेंद्र पटेल गुजरात के नए मुख्यमंत्री ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात की 182 विधानसभा सीटों के लिए दिसंबर 2022 में चुनाव होने हैं वहां पर 65 वर्षीय तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय रुपाणी बीजेपी आलाकमान से बातचीत के बाद शनिवार को राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंपकर पत्रकारों से कहा मैंने गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है मुझे 5 साल तक राज्य की सेवा करने का मौका दिया गया मैंने राज्य के विकास में योगदान दिया “मेरी पार्टी जो कहेगी आगे मैं वही करूंगा” बता दे आनंदीबेन पटेल के इस्तीफे के बाद 7 अगस्त 2016 को गुजरात के मुख्यमंत्री बने 2017 में बीजेपी के जीत के बाद भी मुख्यमंत्री बने रहे। अचानक 11 सितंबर 2021 को उन्होंने गुजरात के सीएम पद से इस्तीफे का ऐलान किया। जिसके बाद 12 सितंबर दिन रविवार को गुजरात के नए मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेंद्र भाई पटेल को चुना गया। शाम 5:30 बजे भूपेंद्र पटेल राज्य पाल से मिलने गए वहीं दूसरे दिन यानी सोमवार भूपेन पटेल 15 मंत्रियों के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। यानी सीधे शब्दों में कहें तो आनंदीबेन पटेल के बेहद करीबी भूपेंद्र भाई पटेल को बीजेपी ने गुजरात की जिम्मेदारी सौंपी है।

loading...