loading...

बिहार में छोटी दिवाली की शाम गोपालगंज व बेतिया में जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई जबकि एक दर्जन के करीब अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे है दिवाली के दिन घटी इस घटना से जाहिर है कि बिहार में शराबबंदी के लाख दावों के बावजूद शराब माफियाओं का आतंक सर चढ़कर बोल रहा है। और उसे काबू में करने का दावा करने वाली जेडीयू और बीजेपी की सरकार जमीनी स्तर पर फेल साबित हो रही है।

loading...

बिहार शराबबंदी के लाख दावों के बीच जमीनी स्तर पर बिहार में पूर्ण शराबबंदी बेअसर दिख रही है तो दूसरी तरफ जहरीली शराब के कहर से गोपालगंज में 13 की मौत हो चुकी है जबकि बेतिया में 8 की जान चली गई है। इसी के साथ जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है जबकि गोपालगंज में 3 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई, सात की हालत गंभीर बनी हुई हैं। गोपालगंज के एसडीएम उपेंद्र पाल ने अभी तक केवल 9 लोगों की मौत की पुष्टि की है सभी घायलों को मोतिहारी और गोपालगंज के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

बिहार में पूर्ण शराब बंदी लागू होने के बाद भी बिहार के नीतीश और बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार जहरीली शराब पर लगाम लगाने में काफी हद तक फेल होती हुई दिख रही है इसका जीता जागता उदाहरण दिवाली के त्यौहार के बीच जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की मौत हो गई है कई जिंदगी और मौत से अस्पताल में संघर्ष कर रहे हैं।

जहरीली शराब से मातम में बदली दिवाली, ग्रामीणों का आरोप पुलिस की मिलीभगत से बेची जाती है शराब

loading...

दीपावली त्यौहार के बीच बिहार के गोपालगंज में संदिग्ध (जहरीली शराब पीने) से मृतकों के क्षेत्र की दिवाली मातम में बदल गई, ताजी जानकारी मिलने तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है जबकि बेतिया में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 10 पहुंच गई है यहां सात की हालत अब भी गंभीर बनी हुई हैं। पीड़ितों के परिजनों के मुताबिक सभी ने बुधवार शाम की गांव के हरिजन टोले में बनने वाली (चूल्हे की देसी) शराब पी थी जिसके बाद देर रात तबीयत बिगड़ने की वजह से आठ लोगों को GMCH व 9 लोगों को जगदीशपुर हॉस्पिटल इलाज के लिए ले जाया गया। जिनमें से 10 लोगों की मौत हो गई। मृतक के परिजनों के मुताबिक जहरीली शराब पीने की वजह से मौत हुई है पूरे मामले की जानकारी के बाद नौतनवा थाने की पुलिस ने मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

loading...

डीआईजी प्रणव कुमार प्रवीण के मुताबिक लोगों की मौत की जानकारी मिली है नौतनवा थाने पर कार्रवाई की जा रही है मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट में स्पष्ट हो पाएगा। मामले में जो भी दोषी होंगे उन पर कार्रवाई होगी।

बेतिया में मरने वाले दसों लोगों के नाम

दक्षिण तेलहुआ पंचायत के महाराज यादव, बच्चा यादव, रमेश सहनी, हनुमंत सिंह, मुकेश पासवान, उमाशंकर शाह, सिकंदर राम, हाशिम खान, ठग हजारा व झखरा पंचायत के रमेश सहनी समेत 10 लोगों की मौत हो गई है। डीएम कुंदन कुमार का कहना है कि मामला संदिग्ध लग रहा और रहा है इसलिए मेडिकल टीम भेजकर जांच कराई जा रही है

गोपालगंज में 13 की मौत, तीन के आंखों की रोशनी गई, जबकि सात की हालत गंभीर

गोपालगंज में जिन लोगों की शराब पीने से तबीयत बिगड़ गई के दरमियान मौत हुई उनमें सभी लोग मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के मंगोलपुर, मोहम्मदपुर, कुशहर, बुचैया थाना क्षेत्र और छपरा के मसरख थाना क्षेत्र के रसौली गांव लोग शामिल है इनमें से बुधवार की शाम 8 लोगों की मौत हुई थी वहीं गुरुवार की सुबह तक मोतिहारी और गोपालगंज के अस्पताल में भर्ती 5 और लोगों की मौत होने के साथ गुरुवार को आंकड़ा बढ़कर 13 पर पहुंच गया है। हालांकि प्रशासन द्वारा केवल 8 लोगों की मौत की बात की जा रही है।

शराबबंदी के दावों के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जदयू भाजपा सरकार पर विपक्ष का लगातार हमलावर रुख बरकरार है फिलहाल जांच रिपोर्ट में आखिर क्या निकल कर आता है वह देखने वाली बात होगी लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि बिहार के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में शराब माफियाओं द्वारा बड़े स्तर पर शराब की तस्करी करके व बनाकर धड़ल्ले से बेची जा रही है। जिससे लोगों की जान आफत में आती जा रही है तमाम मामले ऊपर पहुंचने से पहले ही खत्म कर दिए जाते हैं। यह भी जमीनी स्तर की सबसे बड़ी सच्चाई है।

बड़ी संख्या में जहरीली शराब से मौत के बाद, चार शराब तस्कर के गिरफ्तार करने का दावा

बिहार के गोपालगंज व बेतिया में जहरीली शराब से 21 लोगों की मौत के बाद बेतिया प्रशासन द्वारा मोहम्मदपुर, बैकुंठपुर व सिधवलिया थाना क्षेत्र की पुलिस के साथ तुरहा टोली से चार शराब कारोबार से जुड़े लोगों के गिरफ्तार करने का दावा किया गया है इन 4 लोगों में पुलिस द्वारा बताए गए शराब तस्कर छोटे लाल साह अशोक शर्मा रामप्रवेश साहब और जितेंद्र प्रसाद को पुलिस ने गिरफ्तार किया है पुलिस के मुताबिक पूछताछ में खुलासा हुआ है कि यह सभी तस्कर लंबे समय से शराब के कारोबार से जुड़े हुए थे। बरहाल शराब के धंधे से जुड़े लोगों की तलाश के लिए एसपी ने सख्त निर्देश दिए हैं वहीं डीएम ने उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिया है फिर हाल देखने वाली बात होगी कि इसका जमीनी स्तर पर क्या प्रभाव पड़ता है।

क्रेडिट- संबंधित टि्वटर अकाउंट धारक

loading...