loading...

राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन बिल व नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन के बाद हिंसा की आग में झोकने वाले उपद्रव के आरोपियों के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने कड़ा एक्शन लेते हुए मौलाना सैफ अब्बास समेत अन्य 14 आरोपियों के पोस्टर चौराहे व उनके घरों पर नोटिस चप्पा की है इन प्रदर्शनकारियों में से 8 प्रदर्शनकारियों को वांटेड घोषित कर इनाम भी घोषित किया गया है| पुलिस ने सभी आरोपियों पर शिकंजा कसते हुए घर के बाहर नोटिस भी चस्पा कर दी है| इससे पहले भी मार्च में राजधानी लखनऊ में उपलब्धियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए चौराहों पर फोल्डिंग लगाई गई थी| उसके बाद विवाद हुआ था यह होल्डिंग राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज हसनगंज हजरतगंज इलाके में प्रशासन द्वारा लगाई गई थी तब डीएम ने कहा था तोड़फोड़ करने वालों को सबक मिले इसलिए उनकी होल्डिंग लगाई गई है| पूरा मामला नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA/NRC के विरोध के दौरान 19 दिसंबर 2019 को लखनऊ में प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन करते हुए विरोध के नाम पर सर्वजनिक निजी संपत्तियों को भारी क्षति पहुंचाई थी|इसके बाद मुख्यमंत्री ने एक्शन लेते हुए संपत्ति की भरपाई आरोपियों की संपत्ति कुर्क करने की चेतावनी देते हुए आरोपियों को हिंसक कदम छोड़कर सर्वजनिक संपत्तियों को नुकसान न पहुंचाने की अपील की थी| डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा था अगर तय वक्त में इन आरोपियों द्वारा नुकसान की राशि की भरपाई नहीं की गई तो इनके खिलाफ कार्यवाही भी होगी पहले भी प्रशासन द्वारा डेढ़ सौ से अधिक लोगों को नोटिस देते हुए हिंसा फैलाने वालों को नोटिस जारी की गई थी| जिसमें प्रशासन ने साक्ष्यों के आधार पर 57 लोगों को सर्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोपी पाया था|

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here