छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र से हैवानियत की झकझोर कर रख देने वाली वारदात सामने आई है। जहां 15 दिन से गायब 9वीं क्लास की 15 वर्षीय नाबालिग आदिवासी छात्रा ने 8 लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म के गंभीर आरोप लगाये है। बता दे बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली नवी क्लास कि नाबालिग छात्रा ने दो युवकों पर अपहरण कर उसे अंबिकापुर के एक घर में ले जाकर अपने आठ साथियों के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म करने का गंभीर सनसनीखेज आरोप लगाया है। बता दें कि 21 नवंबर को पीड़िता के पिता ने पीड़िता के गुमशुदा होने की एफ आई आर दर्ज कराई थी जिसमें उन्होंने कहा था कि 20 तारीख को उनकी बेटी कहीं चली गई है उनके खोजने के बावजूद वह नहीं मिल रही है। उसके बाद पुलिस द्वारा अपहरण का मामला दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही थी। 5 दिसंबर की शाम को नाबालिग छात्रा घर वापस आई जिसके बाद 6 तारीख को लड़की के परिजन उसे थाने लेकर पहुंचे जिसके बाद पीड़िता ने आपबीती महिला पुलिस अधिकारी से बता कर तहरीर दर्ज करवाई नाबालिक महिला अधिकारी से बताया उसके पूर्व से जान पहचान वाले आलम पनिक और अमरेश धसिया द्वारा (उसे अंबिकापुर ले जाकर एक एक मकान में) अपने 6 अन्य साथियों के साथ गैंगरेप करने की जानकारी दी है पूरे मामले में लड़की के बयान दर्ज कर अपहरण बलात्कार पोक्सो एक्ट व आदिवासी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर चार बालिक, चार नाबालिक समेत सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर पीड़िता के बयान को सीडब्ल्यूसी व कोर्ट में बयान दर्ज कराने के लिए आरोपियों के खिलाफ उपरोक्त गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर पूछताछ कर रहे हैं।

पूरे मामले पर बलरामपुर जिले के पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू के मुताबिक- 30 नवंबर को नाबालिक लड़की के परिजनों ने शिकायत दर्ज कराई थी कि नवी क्लास में पढ़ने वाली उनकी नाबालिग बेटी 20 नवंबर से लापता है शिकायत के बाद पुलिस ने गुमशुदा नाबालिक की खोजबीन शुरू कर दी, पुलिस अधीक्षक ने बताया की लड़की 5 नवंबर को अचानक अपने घर पहुंची जिसके बाद उसके परिजन उसे दूसरे दिन थाने लेकर पहुंचे जहां पीड़िता ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि वह 20 नवंबर को अंबिकापुर चली गई थी वहां उसकी मुलाकात जान पहचान के युवक सागर से हुई जो उसे गांधीनगर क्षेत्र में अपने मित्र के यहां किराए के मकान में ले गया, वहां सागर ने उसके साथ बलात्कार किया लड़की की शिकायत के मुताबिक वहां सागर के सात दोस्तों ने उसके साथ बलात्कार किया जिसकी बाद वह वापस घर आ गई, पुलिस अधीक्षक के मुताबिक लड़की सी बलात्कार करने की मालिनी चारबाग वाचा नाबालिक आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही हैं।

क्या है पूरा मामला

लड़की 20 नवंबर को घर से बिना बताए गायब हो गई थी। परिजनों ने पुलिस में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसके बाद से 5 दिसंबर को नाबालिक वापस घर आज इसके बाद 6 दिसंबर को परिजन उसे लेकर थाने पहुंचे, जहां लड़की ने बताया कि 20 नवंबर को अंबिकापुर में उसे परसोड़ी निवासी सिद्धांत सागर उर्फ अमरेश (22) अपने साथ ले गया और बलात्कार किया, जिसके बाद 7 अन्य लोगों ने भी उसके साथ बलात्कार किया।

लड़की ने आरोप लगाया है कि आरोपियों ने पिछले 15 दिनों के दौरान पड़ोसी सरगुजा जिले के गांधीनगर क्षेत्र में उसके साथ बलात्कार किया।

बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू के मुताबिक सभी (चार बालिग व चार नाबालिक) को गिरफ्तार कर हिरासत में पूछताछ की जा रही है सभी आरोपियों के खिलाफ अपहरण बलात्कार पॉक्सो एक्ट के साथ आदिवासी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय के समक्ष बयान के लिए पेश किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ से स्वाति साहू की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here