loading...

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन ने रोडमैप तैयार कर वैक्सीन मोबाइल वैन के जरिए गांव-गांव मोहल्ले-मोहल्ले टीकाकरण करने के अभियान का रोडमैप तैयार कर लोगों की सहूलियत के हिसाब से मोबाइल वैन शुरू की है। यह मोबाइल वैन शहर-शहर गांव-गांव जाकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण करने में मदद करेगी। लोकल इलाकों में वैक्सीन लगाने के लिए 2 वैक्सीनेटर दो डाटा ऑपरेटर और एक डॉक्टर की टीम मौजूद रहेगी। टीकाकरण में तेजी लाने के लिए प्रशासन द्वारा वैक्सीन वैन चलाई जा रही है।

loading...

मंगलवार को लखनऊ के डीएम ने केडी सिंह बाबू स्टेडियम से मोबाइल वैक्सीन वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया है। वैक्सीन वैन गांव-गांव मोहल्ले-मोहल्ले पहुंचकर मौके पर ही आधार कार्ड लेकर पंजीकरण करते हुए फ्री में वैक्सीन लगाएगी।

कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण में और अधिक तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा 24 वैक्सीन वैन चलाई जाएंगी। केयर संस्था के सहयोग से यह मोबाइल वैक्सीन वैन शहरी और ग्रामीण इलाकों में रफ्तार भर सकेंगी। मोबाइल वैन जहां पहुंचेगी। वही मौके पर ही पंजीकरण करते हुए वैक्सीन लगा दियी जाएगी। इसके लिए केवल व्यक्ति के पास आधार कार्ड होना जरूरी है।

टीकाकरण के लक्ष्य को तेजी से पूरा करने के लिए घर-घर जाएंगी वैक्सिंग वैन

अभी राजधानी में टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकारी अस्पतालों के साथ निजी संस्थानों में कोविड-19 की वैक्सीन लगाने के लिए कैंप लगाए जा रहे हैं फिरहाल बीते दिनों मैगा कैंप लगाकर एक लाख से अधिक टीका लगाने का रिकॉर्ड भी बनाया गया है अब तक राजधानी में 3200000 लोगों को कोविड-19 का टीका लग चुका है। जिला प्रशासन इस माह के आखिरी तक 18 साल से अधिक प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम 1 टीके की खुराक यानी डोज लगा देना चाहता है।

loading...

इसी मकसद को पूरा करने के लिए प्रशासन द्वारा मोबाइल वैक्सीन वैन का संचालन किया जा रहा है ताकि जो लोग सेंटर पर नहीं पहुंच पा रहे हैं उन लोगों की सुविधा के अनुसार उन्हें कोविड-19 की वैक्सीन लगाई जा सके। इसके अतिरिक्त राजधानी के स्टेडियम गुरुद्वारा मंदिरों में भी टीकाकरण अभियान को जोर-शोर से चलाया जा रहा है। राजधानी के ग्रामीण इलाकों में टीकाकरण का प्रतिशत शहरी इलाकों की तुलना में काफी कम है इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके सिंह ने बताया कि गांव में टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ाने के लिए मोबाइल वैक्सिंग वैन चलाई जाएंगी। जिसमें लोगों को घर के पास ही वैक्सीन लगाने की सुविधा दी जाएगी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक तय करेंगे वैक्सीन वैन का चार्ट

प्रशासन को वैक्सिंग वैन का नक्शा दे हर व्यक्ति तक जल्द से जल्द वैक्सीन कैसे पहुंचे। इस वैक्सीन वैन का चार्ट नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक तैयार कर किन क्षेत्रों में किस हिसाब से कहां पर वैक्सिंग वैन भेजनी है ।आदि की रणनीति बनाकर चार्ट के साथ मोबाइल वैक्सीन वैन जारी करेंगे। ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण जल्दी से जल्दी हो सके। रोजाना यह कोविड-19 मोबाइल वैन अलग-अलग स्थान पर पहुंच कर लोगों का टीकाकरण करेंगी। जिस इलाके में वैक्सीन वैन जाएंगी। वहां लोगों को केवल आधार कार्ड देना अनिवार्य होगा। जिससे वह वहीं पर आधार कार्ड पंजीकरण करके वैक्सीन लगा देंगे।

loading...

बता दे कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के बीच वैक्सीनेशन को तेज करने के लिए सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडपिया ने बताया था कि भारत ने वैक्सीन की 75 करोड़ से अधिक डोज लगाने की ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल कर ली है।

वैक्सीन वैन में 5 लोगों की टीम उपलब्ध रहेगी

लोकल इलाकों में वैक्सीन लगाने के लिए 2 वैक्सीनेटर दो डाटा ऑपरेटर और एक डॉक्टर की टीम मौजूद रहेगी। मंगलवार को यह प्रयोग उत्तर प्रदेश के पहले जिले लखनऊ में शुरू कर दिया गया है इस कदम को लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम से लखनऊ के जिला अधिकारी अभिषेक प्रकाश ने वैक्सीन मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाने के साथ शुरू कर दिया है केवल अभी राजधानी लखनऊ में ही 25 मोबाइल वैक्सीन वैन के साथ तेजी से घर-घर वैक्सीन लगाने का कार्यक्रम शुरू किया गया है।

लखनऊ से विशाल गुप्ता की रिपोर्ट….

loading...