loading...

राजधानी दिल्ली के शकूर रेलवे स्टेशन पर घर से नाराज होकर बैठी युवती के साथ तीन दरिंदों ने मारपीट करते हुए दरिंदगी घटना को अंजाम दिया। फिलहाल अभी पीड़िता मंगोलपुरी के संजय गांधी हॉस्पिटल में भर्ती है जहां युवती की हालत गंभीर बनी हुई है। दिल्ली पुलिस अभी तक 3 दरिंदों में से किसी भी दरिंदे को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

राजधानी दिल्ली के शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर घर में आपसी विवाद होने के बाद गुरुवार 10- 11 सितंबर की दरमियानी रात आकर बैठी 22 वर्षीय पीड़िता को अकेला देखकर तीन दरिंदे उसे अनुचित तरीके से छूने लगे जिसका पीड़िता ने विरोध किया जिसके बाद तीनों दरिंदों ने प्लेटफार्म के पास पीड़िता के साथ हैवानियत की घटना को अंजाम देते हुए उसके साथ मारपीट कर जान से मारने की धमकी दे फरार हो गए, दूसरी तरफ घर में गुस्से के बाद चली जाने के बाद पीड़िता के माता-पिता ने उसे खोजते हुए पूरे मामले की सूचना दिल्ली पुलिस को दी। दिल्ली पुलिस की टीम ने परिजनों से कहा कि हम पीड़िता को खोजने में मदद करते हैं आप लोग भी खोजबीन जारी रखिए। पीड़िता के परिजन लगातार लड़की की खोजबीन करते रहे। लेकिन देर रात तक लड़की का कोई पता नहीं चला। करीब 3:00 बजे के आसपास 22 वर्षीय लड़की बदहवास स्थिति में घर पहुंची उसके कपड़े कई जगह से फटे हुए थे शरीर पर कई चोट के निशान थे, पीड़िता ने घर आकर पूरी आपबीती परिजनों को सुनाई। जिसके बाद परिजनों ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी। पीड़िता ने परिजनों के साथ पुलिस को बताया कि वह गुस्सा होने के बाद शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर बैठ गई थी। जहां उसे 3 लड़कों ने जबरन उठाकर प्लेटफार्म के पास मारपीट करते हुए उसे जान से मारने की धमकी दे उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। फिरहाल पीड़िता को पूछताछ के बाद दिल्ली के मंगोलपुरी स्थित संजय गांधी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है पीड़िता के परिजनों के मुताबिक पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल प्रशिक्षण करवाया। जिसमें रेप की पुष्टि होने के बाद पूरे मामले में पुलिस ने गैंगरेप का मामला दर्ज कर कहा है कि आरोपियों की पहचान करने और उन्हें पकड़ने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

loading...