loading...

चौकीएगा बिल्कुल नहीं, राजधानी दिल्ली के आज हम कुछ ऐसे इलाकों की बात करेंगे। जहां तक बात की जाए ऐसे अनैतिक व्यापारओ की तो यह बड़ी तेजी से दिल्ली में फल फूल रहे हैं इन पर लगाम लगाने की जरूरत है अन्यथा कितने परिवार तबाह हो जाते हैं। प्रशासन को ऐसी गतिविधियों पर तत्काल लगाम लगाने की जरूरत है इस खबर को यहां प्रकाशित करने का मतलब है कि ऐसे अनैतिक देह व्यापारों पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए।

loading...

जहां रात 10:00 बजे के बाद लड़कियां नहीं बल्कि लड़के जाने से कतराते हैं यंह रात 10:00 बजे के बाद से सुबह 4:00 बजे तक मर्दों के जिस्म की बोलियां लगती है दिल्ली में ऐसी कई जगह है जहां शाम ढलने के बाद अमीर औरतें रंगीन-मिजाजी के चलते मर्दों के जिस्म की बोलियां लगाकर कुछ घंटों या रात के हिसाब से होटल या अपने घर ले जाती हैं। इस मर्दो के जिस्म की नुमाइश कराने वाली मार्केट को इलाकों में जिगोलो मार्केट के नाम से जाना जाता है। सीधे शब्दों में कहें तो यहां अमीर घरों की औरतें पैसों के बल पर मर्दों को खरीदने आती है वो भी कुछ घंटों या रातों के लिए जिसके बदले जिगोलो मार्केट के मर्दों को मुंह मांगी कीमत दी जाती है। वैसे इस काले कारोबार को कई शहरों में छिपकर अंजाम दिया जाता है लेकिन राजधानी दिल्ली के कई ऐसे इलाके हैं।

कैंसर क्या है | कैंसर कैसे फैलता है | कैंसर कितने प्रकार का होता है | कैंसर क्यों होता है | कैंसर की पहचान के साथ अन्य जरूरी बातें

जहां खुलेआम ये कारोबार चलता हैं। मुख्यता राजधानी के सरोजनी नगर, पालिका बाजार, लाजपत नगर, कमला नगर समेत कई इलाकों में रात के समय मर्दों के जिस्म की बोलियां खुलेआम लगाती है यानी इन इलाकों में खुलेआम मर्दों के जिस्म की बिक्री होती है।

दिल्ली जिगोलो की कीमत | जिगोलो बुकिंग

loading...

राजधानी के इन जिस्मानी बाजारों में कुछ घंटों के लिए जिगोलो की बुकिंग की जाती है जो हजारों में होती है यहां कुछ घंटे के लिए डेढ़ हजार से लेकर 3000 तक पूरी व रात के लिए 3000 से 8000 तक में सामान्यता डील होती है ।

बिटकॉइन क्या है | बिटकॉइन किस देश की करेंसी है | बिटकॉइन का मालिक कौन है ?

कई युवा जिगोलो इसे अपना पेशा बना चुके हैं, कुछ जरूरतों को पूरा करने के लिए करते हैं

loading...

राजधानी में लगातार देह व्यापार का धंधा बढ़ता जा रहा है जीबी रोड में महिलाओं के जिस्म की मंडी है तो जिगोलो मार्केट में खुलेआम पुरुषों के जिस्म की मंडी सजती है राजधानी के कई युवा इसे अपना पेशा बना चुके हैं तो कई अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए इस पेशे में आने के लिए मजबूर है।

मुंबई में निर्भया जैसी हैवानियत, गंभीर अवस्था के चलते पीड़िता की मौत, रेप के बाद प्राइवेट पार्ट में डाली रॉड, एक गिरफ्तार

यही हाल महिलाओं और कुछ जिस्मफरोशी करने वाली लड़कियों का भी है जो देह व्यापार इसलिए कर रही है उनके पास और कोई साधन नहीं है। कुछ नाबालिक लड़कीयों या लेडीजो को जबरन इस धंधे में धकेल दिया जाता है जो कि एक सबसे बड़ा गिरोह है जिस पर प्रशासन लाख दावों के बावजूद लगाम नहीं लगा सका है। महिलाओं या पुरुषों के देह व्यापार की बात की जाए। तो यह डीलिंग का काम बड़े तरीके से होता है इस मार्केट में बिकने वाले पुरुषों के दाम जिगोलो की एक संस्था तय करती है जिसे वह अपनी कमाई का 20% हिस्सा देते हैं। जानकारी के मुताबिक मर्दों की पहचान उनके गले में पट्टे या रुमाल की लंबाई से तय होती है। उसी से इनकी कीमत तय की जाती है जिसका पट्टा या रुमाल जितना लंबा उसकी कीमत उतनी ज्यादा होती है।

जबरन 11वीं की छात्रा के मुंह में केक ठूसने वाला शिक्षक पहुंचा हवालात में, छेड़छाड़ पोक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज वीडियो वायरल

कोरोना काल में ऑनलाइन बड़ा जिगोलो का धंधा

जैसे जैसे देश में कोविड-19 के चलते लॉकडाउन लगाया गया। वैसे वैसे इस धंधे की जगह ऑफलाइन बाजारों की जगह ऑनलाइन वेबसाइट सोशल मीडिया के जरिए तेजी से बढ़ने लगी। अधिकतर जिस्म के दलालों के माध्यम से जिगोलो का धंधा ऑनलाइन राजधानी से लेकर देश के बड़े-बड़े शहरों में तेजी से फल-फूल रहा है।

कौन है भूपेंद्र पटेल | पाटीदार नेता भूपेंद्र भाई पटेल | पहली बार विधायक बने गुजरात के नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र भाई पटेल

फिर हाल चमक धमक के बीच देश की राजधानी में ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड में महिला पुरुषों के देह व्यापार का धंधा लगातार फल-फूल रहा है। इस अनैतिक धंधे के चलते कई स्त्री पुरुष एचआईवी एड्स जैसे तमाम गुप्त रोगों के शिकार हो जाते हैं। वासना यानी देह व्यापार के धंधे की चपेट में आने से कितने घर बर्बाद हो रहे हैं प्रशासन जानकारी के बावजूद दर्शक बना हुआ है। जीबी रोड समेत दिल्ली के कई विख्यात होटलों में सेक्स रैकेट का संचालन हो रहा है। समय-समय पर कई का खुलासा भी होता है लेकिन इन धंधों पहुंच बहुत गहरे तक है। फिर हाल राजधानी की चमक चमक के बीच जिस्म की मंडियां खुलेआम जारी है।

दिल्ली की टीम के साथ विशाल गुप्ता की रिपोर्ट

loading...