loading...

राजधानी दिल्ली में 12 वर्षीय नाबालिग के साथ घर में घुसकर दरिंदे ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए बच्ची को जान से मारने की कोशिश की गई, बच्ची को देखकर डॉक्टरों के रोंगटे खड़े हो गए वारदात को अंजाम देने वाले दरिंदों को दिल्ली पुलिस अभी तक पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई है। दूसरी तरफ मासूम दिल्ली के एम्स में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है। दिल्ली पुलिस की लचर कार्यवाही को देखते हुए महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को समन जारी कर जवाब मांगा है।

राजधानी दिल्ली एक बार फिर शर्मसार हुई निर्भया गैंगरेप रेप केस के बाद उससे भी अधिक शर्मसार कर देने वाली घटना दिल्ली के पश्चिम विहार से आई है। जहां एक 12 वर्षीय मासूम के साथ है। उसके घर में घुसकर हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए बेरहमी से हत्या करने का प्रयास किया, झकझोर कर रख देने वाली घटना के बाद पीड़िता को गंभीर हालत में दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। दिल्ली के अंदर दुष्कर्म जैसी वारदात के बाद दिल्ली पुलिस अब तक आरोपियों को पकड़ने में नाकामयाब रही है। जिसके बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करते हुए है। जवाब मांगा हैं ।वहीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा 12 वर्षीय बच्ची के साथ इतनी बर्बरता से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया कि वह एम्स में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने जानकारी दी कि दिल्ली महिला आयोग की टीम पीड़ित परिवार के सात चौबीसों घंटे रहकर पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करेगी।https://youtu.be/oCzY-L9tXdo

(घटना की जानकारी देते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल)

बता दे दिल्ली के पश्चिम विहार थाना इलाके के एक घर में घुसकर 12 वर्षीय बच्ची से घिनौंनी मानसिकता के साथ बर्बरता की सभी हदें पार करते हुए दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद दरिंदे ने धारदार हथियार से बच्ची की निर्मम हत्या करने की भी कोशिश की बच्ची के साथ ऐसे हैवानियत की गई कि उसे देखने वाले डॉक्टरों की रूह तक कांप गई।

(ट्वीट कर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने घटना की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया) क्रेडिट
loading...

पूरी वारदात की जानकारी देते हुए दिल्ली पुलिस ने बताया कि घटना मंगलवार देर शाम की है बच्चीं को तत्काल संजय गांधी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां से उसकी हालत को गंभीर होने की वजह से एम्स में भेज दिया गया। बता दे बच्ची का पूरा जिस्म खून से सना हुआ था दुष्कर्म के बाद दरिंदे ने तेज धारदार हथियार से बच्ची के सिर हाथ पैर और पेट समेत पूरे शरीर पर धारदार हथियार से कई वार किए। पुलिस के मुताबिक वारदात के समय बच्ची घर में अकेली थी। उसके घर वाले कहीं पर गए हुए थे। पुलिस के मुताबिक बच्ची के निजी अंगों में भी गहरे जख्म है इस मामले में पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के साथ हत्या की कोशिश की धाराओं में मामला पंजीकृत कर इस बारे में प्रमुखता से जांच की जा रही है। पुलिस के मुताबिक इस घटना को अंजाम देने वाला एक था या उससे अधिक इस बात का भी अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस ने बताया उसे यह भी नहीं पता चल सका है की बच्ची की यह हालत किसने की। बता दे संजय गांधी हॉस्पिटल के डॉक्टर जिस समय बच्ची को देखा उनके रोंगटे खड़े हो गए बच्ची बुरी तरीके से खून से सराबोर थी, उसके शरीर पर घाव ही घाव थे। फिलहाल इस समय 12 वर्षीय मासूम दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है। दूसरी तरफ नाबालिक के साथ ऐसी वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को दिल्ली पुलिस पकड़ने में अभी तक कामयाब नहीं हो पाई है।

क्रेडिट (दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के ट्विटर अकाउंट से)
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here