loading...

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के करहैड़ा गांव में (21 Oct को) 236 लोगों द्वारा हाथरस कांड के विरोध में बौद्ध धर्म अपना लिया गया है।

loading...

पुरे मामले को लेकर भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर इसे ISI, दाउद इब्राहिम, अरविंद केजरीवाल की चाल मानते हुऐ। विधायक ने गृहमंत्री को पत्र लिखकर अवगत करते इसे ISI की चल बतया है। AAP नेता संजय सिंह ने सरकार पर निशाना साधा-

पढे़ पुरे मामले को लेकर भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर का पत्र……

loading...


हाथरस कांड से आहत होकर 50 परिवारों के 236 लोगों ने वाल्मीकि समाज छोड़कर बुधवार को बौद्ध धर्म अपनाया। इन लोगों का कहना है कि कथित ऊंची जाति के लोग राह चलते जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, उनके साथ समाज में अछूतों सा व्यवहार किया जाता है। इस लिए धर्म परिवर्तन किया है।

loading...

उत्तर प्रदेश- हाथरस कांड से आहत होकार 50 परिवारों के 236 लोगों ने वाल्मीकि समाज को छोड़कर बौद्ध धर्म को अपना लिया है। सभी लोग यूपी सरकार व प्रशासन से बेहद नाराज़ होकर धर्म पारिवर्तन का इतना बड़ा कदम उठा डाला इन सभी लोगों ने बीते 14 October को एक साथ इक्ठ्ठा होकर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के पड़पोते राजरतन अंबेडकर की मौजूदगी में बौद्ध धर्म को अपना। लेकिन गाज़ियाबाद के साहिबाबाद स्थित करहेड़ा इलाके में १४४ के बीच इतने बड़े आयोजन की भनक तक गाज़ियाबाद पुलिस को न लगना अचरज की बात है। वो भी तब जब जिले में धारा 144 लगी हो, इसके बावजूद समारोह में बढी़ संख्या में लोग एकत्रित होने व धर्म परिवर्तन की भनक तक नहीं लगने के मामले ने प्रशासन की मुस्तैदी पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं?

इन बौद्ध धर्म को आपनने वाले सभी परिवारों का आरोप है कि हाथरस कांड से बहुत आहत होकर हुए उन्होने यह कदम उठाया है। क्योंकि जिस प्रकार हाथरस में तमाम रीति-रिवाजों को दरकिनार कर मानवता को शर्मसार करते हुए जिस तरह रात के अँधेरे में पीड़िता के शव को जलाया गया वह शर्मसार करने वाला है। वहीं लगातार आर्थिक तंगी से जूझने के बावजूद इनके पारिवरों व इनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं होती है हर जगह अनदेखी की जाती है।

पुरे मामले की जानकारी मिलने के बाद बुधवार सुबह से ही गाज़ियाबाद पुलिस के साथ प्रशासनिक अधिकारियों के बीच बैठकों का दौर चलता रहा है। लखनऊ से प्रशान से रिर्पोट तलब की गई है।

अपर जिलाधिकारी का जबाव-

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here