उत्तर प्रदेश के शामली जिले में डॉक्टरों की भीषण लापरवाही देखने को मिली जहां सरकारी हॉस्पिटल में कोविड-19 का टीका लगवाने गई तीन बुजुर्ग महिलाओं को डॉक्टरों ने बिना सीनियर से राय लिए कोविड-19 के बजाय एंटी रेबीज यानी कुत्ता काटने का इंजेक्शन लगा दिया। डॉक्टरो की लापरवाही के बाद एक महिला की स्थिति बिगड़ने लगी। जब अनारकली नाम की 72 वर्षीय महिला डॉक्टर से कहा कि वह आधार कार्ड के नंबर नोट कर लें।तो डॉक्टरों ने बताया कि कुत्ता काटने के इंजेक्शन में आधार कार्ड की कोई जरूरत नहीं, चक्कर आने के साथ ही अनारकली को सर में दर्द महसूस होने लगा,

उन्होंने डॉक्टर की लापरवाही कि शिकायत मीडिया में की मीडिया में खुलासा होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया इस भीषण लापरवाही के बाद शामली के डीएम ने जांच के आदेश दिए हैं।

24 घंटे में सभी रिकॉर्ड ध्वस्त, यूपी में पहली बार 9695 नए केस, लखनऊ में 2934 नए,14 की मौत

वही उत्तर प्रदेश में कोविड-19 से हालत बुरे होते जा रहे हैं राजधानी लखनऊ में अस्पतालों के लगभग सभी बैड भर चुके हैं, मेडिकल कॉलेज से दर्दनाक दिल को झकझोर कर देने वाली तस्वीर सामने आई यहां मरीज तड़पता रहा लेकिन बैठना खाली होने की वजह से डॉक्टरों ने अस्पताल में भर्ती करने की जहमत तक नहीं उठाई-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here