20 अगस्त को हैदराबाद में एक 25 वर्षीय दलित युवती ने 139 लोगों पर 5000 से अधिक बार दुष्कर्म करने के का मामला 42 पेजों की एक f.i.r. के साथ आईपीसी व एससी एसटी एक्ट के तहत दर्ज करवाया था इनमें से पांच व्यक्तियों को वह जानती तक नहीं थी अब पूरा मामला झूठा निकलने के बाद युवती ने माफी मांगी है।

20 अगस्त को हैदराबाद से एक सनसनीखेज मामला सामने आया था। जहां एक 25 वर्षीय दलित युवती ने 139 पुरुषों पर अपने साथ 5000 से अधिक बार दुष्कर्म करने का गंभीर आरोप लगाते हुए 42 पन्नों की एफ आई आर दर्ज करवाई थी। युवती ने हाई प्रोफाइल छात्र नेता मीडिया फिल्म जगत समेत जाने-माने लोगों पर अपने साथ दुष्कर्म करने का गंभीर आरोप लगाते हुए 5 ऐसे लोगों पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया था जिन्हें वह जानती तक नहीं है। पीड़ित महिला ने बताया था कि सन 2009 में उसकी शादी हो गई 3 महीने बाद पति के चेहरे भाई समेत रिश्तेदार उसका यौन शोषण करने लगे जिसके 1 साल बाद 2010 में तलाक लेकर कॉलेज में पढ़ाई के लिए एडमिशन ले लिया। वह भी उसके साथ दुष्कर्म जैसी वारदात अंजाम दी जाती रही। पूरे मामले में 42 पन्नो कि तहरीर के आधार पर हैदराबाद की पुजागुट्टा पुलिस ने आईपीसी व sc-st की धाराओं में मामला दर्ज कर महिला का मेडिकल परीक्षण करवाया महिला बार-बार अपने बयान बदलती रही उसने कई ऐसे नामों का जिक्र किया जो कभी उससे मिले ही नहीं थे।

पूरा मामला फर्जी निकलने पर युवती ने मांगी माफी, कहा राजा नाम के युवक ने ब्लैकमेलकर मामले दर्ज करवाये।

।अब वह पूरा मामला फर्जी निकलने के बाद 25 वर्षीय दलित युवती ने 139 लोगों पर दुष्कर्म व एससी एसटी एक्ट में मामला दर्ज करवाने के मामले में माफी मांगते हुए बताया कि राजा नाम के एक युवक के पास उसके प्राइवेट फोटो व वीडियो मौजूद है जिसको दिखाकर वह उसे ब्लैकमेल करता था युवती ने दावा किया है कि उसके साथ कुछ लोगों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। पुलिस को युवती के बार-बार बदलते हुए बयानों के बाद संधि उत्पन्न हुआ जिसके बाद अनुमान लगा पुलिस ने बारीकी से जांच की तो पूरा मामला फर्जी नजर आया। साथ ही पूरे मामले में एसीपी के श्रीदेवी के मुताबिक युवती के बयान को दर्ज कर आगे की कार्यवाही कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here