उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में आर्थिक तंगी के चलते दवा व्यापारी ने पत्नी अपने दो नाबालिग बच्चों समेत खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, कमरे से 12 वर्षीय बेटे और 6 वर्षीय बेटी के साथ 42 वर्षीय अखिलेश गुप्ता 39 वर्षीय उनकी पत्नी रिशु गुप्ता ने कमरे में सुसाइड नोट लिखकर फांसी के फंदे से झूल कर जान दे दी। सुसाइड नोट में व्यापारी ने आर्थिक तंगी से जूझने की बात कर आत्महत्या कर ली। पुलिस को सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसके आधार पर चारों शवों को पोस्टमार्टम भेजकर पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। बता दे दवा व्यापारी के 12 वर्षीय बेटे शिवांक का शव खिड़की की ग्रिल से लटका हुआ जबकि 6 वर्षीय बच्ची अर्चिता खिड़की की ग्रिल से लटकी हुई मिली सब के फंदे अलग-अलग लगे थे माता-पिता आगे की ओर फांसी के फंदे में लटकी हुई मिली फिलहाल देखने से ऐसा लगता है कि सभी ने पहले एक एक कर बच्चों को फांसी लगाने के बाद खुद फांसी के फंदे से झूल गए होंगे। रास्सी देखने से ऐसा लगता है कि सभी ने एक ही रास्सी के टुकड़े बनाने के बाद फंदा लगाया होगा।

पति अखिलेश गुप्ता के साथ पत्नी रिशु गुप्ता फाइल फोटो

क्या है पूरा मामला

यह दर्दनाक वारदात उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले के थाना चौक कोतवाली स्थित कच्चा कटरा के पास से सामने आई है जहां आर्थिक तंगी के चलते सुसाइड नोट लिखकर एक दवा व्यापारी 42 वर्षीय अखिलेश गुप्ता ने अपने 12 वर्षीय बेटे सिवाक 6 वर्षीय पुत्री हर्षिता 39 वर्षीय पत्नी रिशु गुप्ता के साथ घर के अलग-अलग हिस्से में एक ही रास्सी के टुकड़े से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली पुलिस को जो सुसाइड नोट बरामद हुआ है उसमें मृतक अखिलेश गुप्ता ने आर्थिक तंगी के चलते आत्महत्या करने की बात लिखी है जिसकी फॉरेंसिक टीम के साथ जांच कराई जा रही है मौके पर से पुलिस ने पति पत्नी पर दो नाबालिग बच्चों के समूह को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है पुलिस के मुताबिक दवा व्यवसाई अखिलेश गुप्ता और उनकी पत्नी रिशु गुप्ता का शव एक कमरे में था वही बेटे और बेटी के शव अलग-अलग खिड़की के ग्रिल से लटके हुए थे इस घटना की जानकारी के बाद क्षेत्र के लोग सन्न रह गए हैं। इस घटना की जानकारी सोमवार को उस समय हुई जब उनके मित्र ने उन्हें फोन किया। लेकिन फोन नहीं उठा तो वह घर आया वहां का माहौल देखकर वह सन्न रह गया। क्योंकि सभी के शव लटके हुए थे उसने तत्काल पूरे मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी जिसके बाद क्षेत्रीय लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। पूरे मामले में एसपी आनंद के मुताबिक आशंका है कि दवा व्यवसाई ने पहले अपने बच्चों को अलग-अलग फांसी के फंदे से लटकाया होगा और उसके बाद खुद पति-पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली होगी उन्होंने बताया पुलिस पूरे मामले की कई एगलों से जांच कर रही है।

रिशु गुप्ता

वही पूरे मामले पर शिओ सिटी प्रवीण कुमार यादव के मुताबिक परिवार के 4 लोगों ने फंदा लगाकर आत्महत्या की है मौके से एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें आर्थिक तंगी की बात लिखी गई है फॉरेंसिक टीम मौके पर है और पूरे मामले की जांच कर रही है मृतकों की पोस्टमार्टम के बाद असली वजह सामने आएगी जिसके बाद पूरे मामले में आदि विधिक कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here