उत्तर प्रदेश दिन पर दिन कानून व्यवस्था की स्थिति बदहाल होती जा रही है। बहन बेटियों की सुरक्षा के प्रशासनिक दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के सिंभावली गेट इलाके में 22 मार्च को घर से स्कूल जा रही दसवीं की छात्रा का अपहरण कर लिया गया। पूरे मामले में परिजन न्याय की गुहार लगाते रहे। लेकिन हमारी पुलिस आरोपियों को खोज नहीं पाई, इसी बीच आरोप के मुताबिक दरिंदे दसवीं की नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम देते रहे। आरोपियों ने नाबालिग बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या कर शव को नोएडा के सेक्टर 33 में छोड़कर फरार हो गये। नाबालिग बेटी की दर्दनाक मौत के बाद पीड़िता के परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए कई पर नामजद तहरीर देकर मामला दर्ज करवाया है हापुड़ के सिंभावली क्षेत्र में घटित इस घटना ने कानून व्यवस्था की पोल-खोल कर रख दी है। पूरे मामले में ग्रामीणों द्वारा हंगामा करने के बाद पुलिस जागी मामले को दूसरा एंगल दे दबाने की प्रथमिक कोशिश की गई। लेकिन ग्रामीणों के दबाव के आगे पुलिस ने अपहरण सामूहिक दुष्कर्म हत्या के मामले में केस दर्ज किया है ग्रामीणों में आक्रोश है ग्रामीण पूरे मामले में पुलिस की भीषण लापरवाही की वजह से पीड़ित छात्रा की हत्या होने की बात कर रहे हैं।

22 मार्च को नाबालिग छात्रा का अपहरण, कोई पुख्ता कार्रवाई आखिर क्यों नहीं ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here