12 साल बाद फिर हरियाणा का अंबाला गैंगवार से दहल गया यहां के कालका चौक पर स्विफ्ट डिजायर कार से 4 लोगों ने चंडीगढ़ नंबर की गाड़ी (कार) लगाकर ताबड़तोड़ 20 से अधिक गोलियां चलाई इस गैंगवार की घटना के बाद से चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। अंबाला कोर्ट में पेशी पर आये भूप्पी राणा गैंग के बदमाशों पर लारेंस बिश्नोई गैंग के बदमाशों ने हमला कर दिया। जब तक वो (भूप्पी राणा गैंग के बदमाश) कुछ समझ पाते तब-तक गोलियों की रफ्तार के आगे दो ने दम तोड़ दिया, जबकि दो गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

घटनास्थल से पुलिस ने गोलियों के खोखे भी बरामद किए हैं जानकारी के मुताबिक दोनों गैंग के बीच पहले भी छोटी-मोटी झड़ते हो चुकी है मारे गए भप्पी राणा गैंग के सदस्य हैं जबकि हमलावर लारेंस बिश्नोई गैंग के बदमाश हैं दोनों के बीच जेल में कुछ समय पहले झगड़ा हुआ था फिर हाल पूरे मामले में पुलिस तफ्तीश कर रही है।

अंबाला गैंगवार में भूप्पी राणा गैंग के 2 सदस्यों की मौत दो गंभीर रूप से घायल, घटनास्थल से 10 मीटर पर मौजूद थी पुलिस

फायरिंग में मरने वालों की पहचान 32 वर्षीय राहुल और प्रदीप उर्फ पंजा के रूप में हुई है जबकि गंभीर रूप से घायल की पहचान 25 वर्षीय अश्विन और 24 वर्षीय गौरव के रूप में हुई है। घटना स्थल से महज 10 मीटर पर पुलिस मौजूद थी। अचानक बदमाश आए और गाड़ी के आगे गाड़ी लगाकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।

पुलिस के मुताबिक फायरिंग करने वाले बदमाश HR074314 नंबर की गाड़ी से आए थे। करीब 12 साल बाद फिर अंबाला की धरती पर दिनदहाड़े गुंडागर्दी यानी गैंगवार की घटना के बीच शहर में दहशत का माहौल दिख रहा है। लोग चारों तरफ इस गैंगवार पर तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं। घटनास्थल से 20 से 25 राउंड गोली चलाने की सूचना मिली है। इस गैंगवार के बीच पुलिस की मौजूदगी पर भी सवालिया निशान उठता है कि आखिर 10 मीटर की दूरी में पुलिस की मौजूदगी के बावजूद इतनी बड़ी वारदात घटित हो गई और पुलिस हाथ पर हाथ धरे रह गई, आखिर क्यों ?

फिलहाल वारदात के बाद घटनास्थल पर पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई है चश्मदीद पुलिसकर्मी के मुताबिक अचानक एक कार से कुछ लोग आए और चारों को घेरकर 20 से 25 राउंड फायरिंग कर पंजाब की ओर फरार हो गए।

गैंगवार की घटना के बाद प्रशासनिक अमला सक्रिय

घटना के बाद पुलिस के आला अधिकारी सक्रिय हो गए हैं पूरे मामले की हर एंगल से जांच पड़ताल (फिलहाल) की जा रही है। लेकिन पुलिस की मौजूदगी के बीच इतनी बड़ी वारदात दिनदहाड़े बीच सड़क पर वह भी कोर्ट परिसर के पास होना सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते हैं ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here