loading...

जम्मू कश्मीर नाथ गुफा के पास बादल फटने से भारी तबाही किश्तवाड़ में बादल फटने की वजह से 7 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 31 लोग अभी लापता है बादल फटने के बाद किश्तवाड़ में तैनात 17 राष्ट्रीय राइफल के सैनिक मौके पर राहत बचाव कार्य में जुटे बीएसएफ और सीआरपीएफ के कैंप को नुकसान पहुंचने की खबर है।

loading...

बता दे इसी साल 28 जून को अमरनाथ यात्रा शुरू होकर 22 अगस्त तक चलनी थी लेकिन क्रोना की वजह से इसे लगातार दूसरे साल तक कर दिया गया है। बता दो जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में सुबह 4:30 बजे बादल फटने की वजह से बाढ़ आ गई जिसमें ओझर गांव के सागर और राशन स्टोर स्थानी 40 लोग बादल फटने की वजह से लापता बताए जा रहे हैं अभी तक 7 लोगों के शव को निकाला गया है राहत बचाव कार्य करते हुए टीम ने 17 लोगों का रेस्क्यू करते हुए राहत बचाव कार्य में लगे हुए हैं 5 लोगों की हालत गंभीर है।

loading...

किश्तवाड़ जिला उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा के मुताबिक 7 शव निकाले जा चुके हैं सेना पुलिस के साथ एसडीआरएफ की ओर से बड़े पैमाने पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है अन्य टीम जम्मू उधमपुर और श्रीनगर से घटनास्थल तक आने के लिए एअरलिफ्ट का सहारा ले रही है इस बीच मौसम बाधक बना हुआ है।

loading...