उत्तर प्रदेश दिन पर दिन गुंडे बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं लेकिन इन बदमाशों को राजनीति ज्ञानी नेताओं का संरक्षण हमेशा प्राप्त रहा है आज ऐसे ही राजनीतिक संरक्षण के आड़ में हत्यारे हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को कानपुर पुलिस पकड़ने के लिए पहुंची है हिस्ट्रीशीटर को पकड़कर जीप में बैठा रही थी इसी बीच बीजेपी नेता और उसके समर्थक पुलिस से भिड़ गए हिस्ट्रीशीटर के समर्थकों ने आरोपी को पुलिस के चंगुल से छुड़ाकर फरार हो गए।

हिस्ट्रीशीटर को पुलिस के चंगुल से छुड़ाते हुए समर्थक……

इस बीच पुलिस की पूरी टीम बैकफुट पर नजर आई हालांकि पुलिस ने पूरे मामले में किसी भी राजनीतिक पार्टी से कोई भी संबंध होने की बात को नकार दिया है। लेकिन इस कहानी का दूसरा सहा सच भी वीडियो में देखा जा सकता है। वीडियो में देख सकते हैं पुलिस और बीजेपी नेता के समर्थकों के बीच झड़प हो रही है आरोप है कि सभी नियम कायदों की धज्जियां उड़ा कर दो-ढाई सौ लोगों को बुलाकर कानपुर दक्षिण के बीजेपी नेता यानी जिला महामंत्री नारायण सिंह बुधवार को अपना जन्मदिन मना रहे थे। इसी बीच नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित आकर्षण गेस्ट हाउस जहां उनकी जन्मदिन की पार्टी चल रही थी उस पार्टी में नारायण सिंह भदोरिया के रिश्तेदार दोस्त और बड़ी संख्या में समर्थक आए हुए थे इसी पार्टी में कई हत्याओं का अभियुक्त हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह भी शामिल होने के लिए पहुंचा इस हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह पर शहर के अलग-अलग थानों में हत्या चोरी रंगदारी लूट के 27 मामले दर्ज हैं जिसे बर्रा थाने से वंचित अपराधी भी घोषित किया है लेकिन लोकल का समर्थन हासिल होने की वजह से सब की मेहरबानी इस अपराधी पर बनी रहती है इसी वजह से गिरफ्तारी नहीं हो पाई। इस अपराधी के इस जन्मदिन पार्टी में शामिल होने की जानकारी नौबस्ता पुलिस को मिली पुलिस मनोज सिंह को हिरासत में लेने के लिए जन्मदिन पार्टी में शादी कपड़ों में पहुंचकर उसे गेस्ट हाउस से उठाकर बाहर लाते हुए जीप में बैठा रही थी इसी बीच हिस्ट्रीशीटर ने शोर मचाना शुरू कर दिया जिसके बाद माहौल गहमागहमी का बना मौजूद भीड़ राजनीतिक समर्थक समेत उसके साथियों ने पुलिस से बदसलूकी करते हुए गिरफ्तारी का विरोध कर धक्का-मुक्की की, कुछ तो जीत के सामने लेट गए…… बवाल काफी बड़ा जिसके बाद उसके साथियों ने पुलिस की जीप से उतारकर हिस्ट्रीशीटर को भगा दिया पूरे मामले का वीडियो कैमरे में कैद होने के बाद सच्चाई सामने आई पूरे मामले में कई चौंकाने वाले तथ्य है जिन्हें बेशक नजरअंदाज किया जा सकता हो। लेकिन पूरी घटना की सच्चाई वीडियो बखूबी बयां कर रहा है।

पूरी घटना की कहानी पुलिस की जुवानी सफाई के साथ….

पूरे प्रकरण का वीडियो सामने आने के बाद कानपुर पुलिस ने सफाई देते हुए घटना सामने रखी और डीसीपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह पर 25000 का इनाम घोषित था मुखबिर से जानकारी मिली कि आकर्षण गेस्ट हाउस से 100 मीटर दूर पान की दुकान पर मनोज सिंह खड़ा है चौकी प्रभारी उस्मानपुर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे मनोज सिंह को पकड़कर जीप में बैठाने लगे इसी बीच उसके कुछ साथी जीत के आगे लेट गए पुलिसकर्मी जीत के आगे लेटे लोगों को हटाने की कोशिश करने लगे इसी दौरान उसके 10 से 15 साथियों ने मिलकर उसे पुलिस के वाहन से उतारकर वहां से भगा दिया। डीसीपी साउथ रवीना त्यागी ने हिस्ट्रीशीटर का किसी भी राजनीतिक दल से संबंध होने को नकारते हुए बताया कि अभियुक्त का किसी भी राजनीतिक दल से संबंध नहीं है पुलिस ने लगभग 1 दर्जन से अधिक लोगों पर मामला दर्ज किया है।

पुलिस की सफाई की पोल भारत समाचार के संपादक बृजेश मिश्रा सर ने खोलते हुए ट्वीट किया है।

विशाल गुप्ता की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here