loading...

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भूमाफिया पर लगातार कार्रवाई की बात की जाती है लेकिन जमीनी स्तर पर उनके हर दावे खोखले ही साबित हो रहे हैं। लगातार मंदिर की जमीनों व सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वाले दबंगों के हौसले बुलंद होते जा रहे है। अगर उनके इन अवैध कब्जों के खिलाफ कोई मुखर आवाज होकर विरोध करें तो उन पर उल्टे छेड़छाड़ जैसे फर्जी मामले पैसे के बल पर मिलीभगत करके दर्ज कराकर परेशान करने की भी खबरें लगातार आती ही रहती हैं। ऐसा ही एक मामला राजधानी के मोहनलालगंज तहसील क्षेत्र के हुलास खेड़ा गांव से सामने आया है।

क्या है पूरा मामला, पहले तो मंदिर की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा, विरोध करने वालों पर फर्जी धाराओं में मुकदमा दर्ज

पूरा मामला लखनऊ जिले के मोहनलालगंज तहसील के अंतर्गत आने वाले हुलास खेड़ा गांव का है जहां गांव में राधा कृष्ण भगवान के मंदिर का निर्माण धनताड़े साहू द्वारा सर्वजनिक पूजा पाठ के लिए निर्माण कराकर अच्छी खासी जमीन मंदिर के सामने छोड़ी गई थी। मंदिर निर्माण के कुछ समय बाद (निसंतान) धनताडे साहू का स्वर्गवास हो गया। उनके भांजो के साथ गांव वालों द्वारा मंदिर में निरंतर पूजा पाठ होता रहा। इस बीच राधा कृष्ण मंदिर के बाहर की जमीन पर गांव के ही शिव प्रसाद साहू ने धर्मशाला बनाने की बात कहते हुए उसमें कमरे बनाकर अवैध कब्जा कर लिया।

मंदिर की जमीन पर अवैध निर्माण
loading...

सार्वजनिक रूप से बने राधा कृष्ण मंदिर के बाहर की जमीन पर शिवप्राद साहू पुत्र महाशुख साहू व पंकज साहू नीरज साहू अंबुज साहू पुत्र गण शिवप्रसाद साहू द्वारा अवैध कब्जा कर लिया गया है। अवैध कब्जे की जानकारी होते ही धनताड़े के गांव में रहने वाले रिश्तेदारों के साथ गांव वालों ने इसका विरोध किया विगत जन्माष्टमी के दिन यहां पर गांव वालों के साथ मिलकर राम ढोल के कार्यक्रम के साथ राम ढोल उठने के उपलक्ष में झांकी निकालते हुए पूजा पाठ किया गया।

जिस दिन भंडारा हो रहा था उसी दिन उक्त लोगों द्वारा मंदिर की जमीन पर मौजूद अवैध कब्जे की जमीन पर बने कमरे में (स्थानीय पुलिस की मदद से) टूटे हुए दरवाजे को लगाते हुए शिव प्रसाद साहू अपने बच्चों समेत विवाद पैदा करने के उद्देश्य से गाली गलौज कि जो कि उक्त वीडियो में बखूबी देखी जा सकती है। हमने गांव के 1 दर्जन से अधिक लोगों से बात की उनके मुताबिक अवैध रूप से मंदिर की जमीन पर कब्जाए गए कमरे के पास रामडोल लगा था ।

loading...

जिसमें गांव के लड़के खेल रहे थे टूटा हुआ दरवाजा था लड़कों के खेल-खेल में दरवाजा टूट गया उसके बाद शिवप्रसाद उनके घर वालों ने पूर्व प्लानिंग के मुताबिक नौटंकी करते हुए शोर-शराबा किया। ट्वीट पर शामिल वीडियो में आप बखूबी वीडियो देखकर मामला सकते हैं।

loading...

गांव के लोग कह रहे हैं भंडारा होने के बाद दरवाजा लगवा लेते। पास में पुलिस मौजूद है पुलिस की मौजूदगी में पूरा घटनाक्रम हुआ उसके बाद भंडारी में शामिल आयोजन करा रहे लोगों पर थाने में फर्जी धाराओं में मामला दर्ज हुआ आखिर मामले में कितनी सच्चाई है वह गांव का बच्चा-बच्चा बखूबी बता सकता है।

अवैध कब्जे पर पुलिस ने खड़े होकर लगवाए दरवाजे, ग्रामीण बोले पैसे लेकर पुलिस कर रही काम

ग्रामीणों के मुताबिक- पुलिस ने अपनी मौजूदगी में अवैध कब्जा करके खड़े किए गए मकान पर खड़े होकर दरवाजा लगवाया जिसका टूटा हुआ पल्ला (दरवाजा) बच्चों के खेल खेल में टूटा दरवाजा उसके बाद रामढोल की झांकी आयोजित कर भंडारा करा रहे लोगों पर बिना किसी विवाद के ( इसी जमीन पर अवैध कब्जे के विरोध करने के चलते हुई दुश्मनी के चलते जलन बस) एक तरफा मुकदमा दर्जकरा दिया है।

लखनऊ सरकारी आदेशों पे पलीता लगाता हुआ तहसील प्रशासन, ढाई महीने से मुख्यमंत्री व तहसील की चौखट के चक्कर लगा रहे दिव्यांग को नहीं मिल रहा न्याय
loading...