लखनऊ समेत पूरे उत्तर प्रदेश में अनी बुलियन कंपनी बनाकर 600 करोड़ रुपए की ठगी केस में शुक्रवार को परिवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने इटली में तैनात आई एफ एस (इंडियन फॉरेन सर्विस) में तैनात निहारिका सिंह व गोमती नगर में रहने वाले उनके पति अजीत गुप्ता पर उत्तर प्रदेश के हजारों लोगों के साथ धोखाधड़ी के मामले में मामला दर्ज किया है।

क्या है पूरा मामला

बता दे निहारिका सिंह इटली के भारतीय दूतावास में IFS के पद पर तैनात हैं इस वजह से उनके राजनेताओं के साथ अच्छे संबंध होने के फोटो को दिखाने के बाद उसका पति उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में अपनी कंपनी के जरिए लोगों को झांसे में लेकर उन्हें 40% तक का लाभ देने का हवाला देने का काम करता था। अजित गुप्ता ने ठगी के लिए सन 2010 में अनी बुलियन नाम से एक कंपनी बनाई जिसमें सबसे पहले राम नगरी अयोध्या के आसपास के जिलों के लोगों को 40% से ज्यादा फायदा देने का लालच दे, लोगों को फंसाने के लिए अपनी पत्नी को बुलाकर जबरदस्त झूठे दावे पेश कर दोनों पति-पत्नी ने मिलकर हजारों किसानों को ठगने का काम शुरू कर दिया, बताते चलें अजीत गुप्ता को यूपी एटीएस ने 600 करोड़ की ठगी के मामले में जुलाई 2020 में लखनऊ के पीजीआई में गिरफ्तार किया था।

यूपी एटीएस के आगे अजीत गुप्ता ने कबूल किया था कि उन्होंने अनी बुलियन कंपनी में लोगों को ज्यादा पैसे निवेश करने का झांसा देकर अपने एजेंटों के जरिए 600 करोड़ रुपए कमाये। अजीत लोगों से डील करने के लिए इस तरीके से पेश होता था कि उसके बहकावे में हर भोला भला आदमी आ ही जाता था। दूसरे उसकी पत्नी के राजनेताओं से अच्छे संबंध के फोटो देखकर भोली-भाली जनता बढ़ी आसानी से बहकावे में आ जाते थी।

डायरेक्टर पति पत्नी समेत डेढ़ दर्जन एजेंटों पर यूपी के कई जिलों में सैकड़ों एफ आई आर है दर्ज

राजधानी लखनऊ के गोमती नगर विराट खंड निवासी अजीत गुप्ता उनकी पत्नी निहारिका सिंह अयोध्या के रहने वाले संतोष कुमार अंजनी कौशल कुमार गोस्वामी उपाध्याय धर्मेंद्र कौशल कौशल समेत इन लोगों पर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में सैकड़ों एफ आई आर दर्ज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here