लखनऊ विधानसभा व बीजेपी कार्यालय गेट नंबर 2 के सामने पीड़िता महिला जिसने अपना धर्म बदल कर मुस्लिम नाम आयशा रख, मुस्लिम युवक से निकाह की थी। वह आज ससुराल वालों की जुर्म जास्ती से परेशान होकर विधानसभा के सामने पेट्रोल डालकर खुद को आग लगा ली।

बता दें पीड़िता को गंभीर हालत में लखनऊ के सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। पीड़िता का पति मौजूद समय में सऊदी अरब में नौकरी करता है।

क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश मंगलवार दोपहर लखनऊ विधान सभा के सामने महिला ने खुद को जलन सील पदार्थ डाल कर आग के हवाले कर लिया। पूरे मामले को देखने व जानकारी मिलने के बाद हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सुरक्षा बलों के साथ मीडियाकर्मियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए महिला पर लगी आग को बुझाने में सफलता पाई। तब तक महिला बुरी तरीके से जल चुकी थी, जिसे गंभीर अवस्था में सिविल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। बता दें महिला की शादी कुछ समय पहले महाराजगंज जिले में रहने वाले 35 वर्षीय अखिलेश तिवारी से हुई थी। आपसी विवाद के बाद तलाक हो गया, जिसके बाद महिला ने धर्म बदलकर मुस्लिम धर्म के युवक आशिक से निकाह कर लिया, निकाह के बाद आसिफ सऊदी अरब चला गया। महिला के आरोप के मुताबिक इस दौरान आसिफ के परिजन उसे लगातार प्रताड़ित करते रहे, जिससे तंग आकर उसने आत्मदाह करने का फैसला करते हुए आत्मदाह कर लिया,

पीड़िता ने आरोप लगाया है कि महाराजगंज थाने में उसने पुलिस से कई बार शिकायत की। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इंसाफ के लिए मुख्यमंत्री से मिलना चाहती थी। लेकिन मुलाकात ना होने से निराशा के चलते उसने आत्मदाह किया है। महिला को गंभीर अवस्था में सिविल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here