मिलिट्री इंटेलिजेंस की निशानदेही पर एसटीएफ व मेरठ पुलिस की टीम को मिली बड़ी कामयाबी 35 करोड़ की नकली एनसीईआरटी पुस्तके बरामद प्रिंटिंग प्रेस के साथ गोदाम सीज।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एसटीएफ व पुलिस की संयुक्त टीमों को शुक्रवार थाना परतापुर क्षेत्र में एक गोदाम पर छापेमारी के दौरान बड़ी सफलता हासिल हुई, यह अवैध तरीके से नकली एनसीईआरटी पुस्तकें उत्तर प्रदेश उत्तराखंड दिल्ली हरियाणा व आसपास के राज्यों में छाप कर बेचने का कार्य करने वाले गिरोह के गोदाम पर छापेमारी के दौरान प्रिंटिंग मशीन समेत 35 करोड़ कीमत की अवैध एनसीआरटी पुस्तकें बरामद हुई है|

(अवैध एनसीईआरटी की बरामद पुस्तकें)

इस पूरे मामले की जानकारी आर्मी इंटेलिजेंस की ओर से दी गई थी जिसके बाद छापेमारी में नकली किताबों का बड़ी संख्या में जखीरा बरामद हुआ है| बता दे छापेमारी के दौरान भी प्रिंटिंग प्रेस में कार्य चल रहा था उस दौरान प्रिंटर का मालिक अवैध पुस्तक का संचालक दोनों वहां पर मौजूद थे छापेमारी के दौरान बीजेपी के झंडा लगी गाड़ी में बैठ कर आरोपी परतापुर थाना के गगोल काशी गांव के लिए निकल गया। सत्ताधारी पार्टी का झंडा लगा होने के कारण पुलिस ने उसे रोकने तक की हिम्मत नहीं जुटाई।

छापेमारी के दौरान एसटीएफ की टीम ने 20 से ज्यादा काम कर रहे व्यक्तियों को हिरासत में लिया। जिनका नाम लिखाने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी के मुताबिक सुशांत सिटी के रहने वाले सचिन गुप्ता का परतापुर थाना क्षेत्र में गगोल रोड पर किताबों का एक गोदाम है जहां पर अवैध रूप से एनसीआरटी किताबों की छपाई कर अवैध रूप से पड़ोसी राज्यों में बेचा जाता था जिसकी सूचना के बाद एसटीएफ व पुलिस की संयुक्त टीम ने छापा मार कर मौके से एक दर्जन लोगों को हिरासत में ले, 35 करोड़ की एनसीईआरटी की नकली किताबों को बरामद कर प्रिंटिंग प्रेस व गोदाम को सील कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here