loading...

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के साकीनाका इलाके में एक 32 वर्षीय महिला के साथ दुष्कर्म के बाद दरिंदगी करते हुए महिला के प्राइवेट पार्ट में दरिंदों ने लोहे की रड डालते हुए हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। पीड़िता को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए राजावाडी हॉस्पिटल घाटकोपर में भर्ती कराया गया। जहां अस्पताल प्रशासन ने शनिवार को पीड़िता की मौत की पुष्टि कर दी है।

loading...

राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत संज्ञान लेते हुए जवाब मांगा है दूसरी तरफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

इंसानियत को शर्मसार करने वाली यह वारदात मुंबई के साकीनाका इलाके के खैरानी रोड पर अंजाम दी गई। दरिंदों ने महिला के साथ बलात्कार करने के बाद पीड़िता के गुप्त अंगो यानी प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड डाल दी।

महिला को गंभीर अवस्था के चलते हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। महिला की स्थिति लगातार बिगड़ने के चलते उसे वेंटीलेटर पर रखा गया जहां शनीवार को पीड़िता का हाल-चाल जानने के लिए मुंबई की मेयर अस्पताल पहुंची और पीड़िता का हालचाल जाना। वही इस दरिंदगी के मामले का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है।

loading...

जिसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि दरिंदे द्वारा महिला के साथ बलात्कार के बाद बुरी तरीके से मारपीट कर लोहे की रॉड से हमला किया गया जिसके बाद आरोपी ने पीड़िता पर जानलेवा हमला करते हुए उसके प्राइवेट पार्ट में कई बार लोहे की रॉड डाल दी‌। इस हैवानियत की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी महिला को टेंपो में डालकर फरार हो गया। वहां से गुजरने वाले शख्स ने खून से सराबोर स्थिति में 15 मिनट बाद महिला को देखते ही मुंबई पुलिस को फोन किया।

डॉक्टरों के मुताबिक महिला के इंटरनल पार्ट्स में लोहे की रॉड डालने की वजह से गंभीर इंजरी हुई है महिला का ऑपरेशन किया गया लेकिन हालत गंभीर बनी हुई है।

मुंबई पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार, पुलिस ने कहा सीसीटीवी है अहम सबूत

loading...

मुंबई पुलिस अधिकारियों के मुताबिक घटना मुंबई के साकीनाका इलाके में हुई यहां एक आरोपी द्वारा महिला से बलात्कार के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड डाल दी गई। मामले की जानकारी होने के बाद दबिश देकर एक आरोपी को गिरफ्तार करके उसके खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 307, 376, 323 और 504 में मामला दर्ज करके आगे की जांच की जा रही है। पुलिस सख्ती के साथ आरोपी से पूछताछ कर पूरे मामले की सच्चाई जानने की कोशिश कर रही है। पुलिस के मुताबिक इस वारदात में कई आरोपी शामिल हो सकते हैं।

दिल्ली के निर्भया केस की आई याद, गंभीर स्थिति के चलते पीड़िता की मौत

देश की आर्थिक राजधानी में 32 वर्षीय महिला के साथ टेंपो में हुई दरिंदगी की घटना ने 2012 में हुई दिल्ली की निर्भया केस जैसी क्रूरता की यादें फिर से ताजा कर दी है फर्क इतना है कि निर्भया के साथ दिसंबर 2012 में देश की राजधानी दिल्ली की चलती बस के अंदर निर्दयता से गैंगरेप की घटना को अंजाम देने के साथ उससे चलती बस से फेंक दिया गया था। जिसके बाद पूरे देश में रेप को लेकर आक्रोश फैल गया था। कानून भी बने थे लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है पुलिस के मुताबिक यह घटना सड़क किनारे खड़े एक टैंपू के अंदर अंजाम दी गई है टेंपो की सीट से खून के धब्बे मिले हैं।

जानकारी के मुताबिक रड डालने की वजह से महिला की आंत बाहर आ गई थी जिसके चलते डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर बचाने की कोशिश की लेकिन हालत नाजुक होने के चलते उसे बचाया नहीं जा सका है।

loading...