loading...

पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान ने माना कि भारत का कुख्यात आतंकवादी मार्च 1993 मुंबई बम विस्फोट का मुख्य साजिशकर्ता मोस्ट वांटेड आतंकवादी दाऊद इब्राहिम खुलेआम पाकिस्तान के कराची शहर के व्हाइट हाउस में रहता है।एफएटीएफ की ग्रे सूची से ब्लैक सूची में जाने से बचने के लिए पाकिस्तान को मजबूरी में अपने पाले पोसे आतंकवादियों की सूची जारी करनी पड़ी है। पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकवाद पालने पोसने के आरोपों के बीच FATF यानी कि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ग्रे सूची में डाला गया था उस पर लगातार ब्लैक सूची में जाने का खतरा मंडरा रहा है। अगर पाकिस्तान को एफएटीएफ की ब्लैक सूची में डाल दिया जाता है तो कंगाल पाकिस्तान की रोजी-रोटी दाना पानी पूरी तरीके से बंद होने का खतरा मंडराने लगेगा। इसी को देखते हुए पाकिस्तान ने अट्ठासी संरक्षित आतंकवादियों की सूची जारी कर उनके खिलाफ एक्शन व उनके नेताओं पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है जिसमें भारत के कुख्यात आतंकवादी दाऊद इब्राहिम का नाम भी शामिल हैं। भारत लगातार दावा करता रहा है कि पाकिस्तान में भारत के कुख्यात आतंकवादी को संरक्षण मिलता रहा है उसे आज पाकिस्तान ने खुद कबूल कर लिया है। ये झूठे पाकिस्तान की मजबूरी भी है कि पाकिस्तान को भारत के सबसे बड़े दुश्मन दाऊद इब्राहिम का नाम लिखना पड़ा इसी के साथ पाकिस्तानी गवर्नमेंट से लेकर राजनेताओं के झूठ का पुलिंदा सामने आ गया है इससे साबित होता है पाकिस्तान की करनी और कथनी में कितना बड़ा फर्क है।

loading...

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत को बड़ी जीत मिलती हुई दिख रही है। पहली बार पाकिस्तानी गवर्नमेंट ने माना कि भारत का अंडरवर्ल्ड डॉन दुश्मन मुंबई धमाके का प्रमुख आरोपी दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान के कराची के व्हाइट हाउस में रहता है।

loading...

बता दे पाकिस्तान ने यह कबूल नामा करते हुए दाऊद इब्राहिम के 3 पतों को जारी किया है। माना जा रहा है कि एफटीएफ से बचने के पाकिस्तानी गवर्नमेंट ने मोस्ट वांटेड कुख्यात आतंकवादी दाऊद इब्राहिम समेत पाकिस्तान के अट्ठासी आतंकवादियों की सूची जारी की जिसमें से दाऊद इब्राहिम का एक नाम भी शामिल है। आतंकवादियों को संरक्षण देने वाले पाकिस्तान ने दावा किया कि दाऊद पाकिस्तान के करांची के क्लिफटन में रहता है।

उसकी व उसके गैंग से जुड़े लोगों की जल्दी चल- अचल संपत्ति को जप्त करने का पाकिस्तानी सरकार ने दावा किया है कि दाऊद इब्राहिम समेत 88 आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी चल रही है। माना यह भी जा रहा है कि पाकिस्तान की यह पहले की तरह दोगली चाल भी हो सकती है फिलहाल भारत ने कहा दाऊद इब्राहिम 1993 मुंबई बम धमाकों का प्रमुख आरोपी है जिसे पाकिस्तान ने संरक्षण दिया है। भारत का कहना है कि पाकिस्तान हथियारों की तस्करी और नारकोटिक्स का गढ़ बन गया है, दाऊद इब्राहिम और उसकी डी कंपनी लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

पाकिस्तान ने क्यों जारी की अपने संरक्षित आतंकवादियों की सूची

पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकवाद को लेकर गहरा दबाव बढ़ता जा रहा है पाकिस्तानी अभी एफएटीएफ की ग्रे सूची में है उस पर ब्लैक सूची में जाने का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। अगर नापाक पाकिस्तान ने आतंकवादियों को पालना पोसना बंद कर उन पर प्रतिबंध नहीं लगाया तो पाकिस्तान एफएटीएफ की ग्रेस सूची से ब्लैक सूची में जा सकता है। इसलिए माना जा रहा है कि पाकिस्तान ने दबाव के चलते 88 आतंकवादियों की सूची जारी कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दिखाने के लिए उन पर लगाम कसने की बात कही है। पाकिस्तान के चाल चरित्र और चेहरे से हर कोई वाकिफ है।

loading...

भारत लगातार कहता रहा है कि पाकिस्तान के कराची शहर में रहता है दाऊद इब्राहिम आज पाकिस्तान ने इस बात की पुष्टि खुद की है।

अब देखने वाली बात यह होगी कि पाकिस्तान ने इन आतंकवादियों पर कार्रवाई करने की तो बात की है लेकिन असल में कितने आतंकवादियों पर कौन सी कार्रवाई करता है ?

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here