बिहार राजधानी पटना में खुलेआम लोकतंत्र का मजाक बनाया जा रहा है ऐसा कहने के पीछे कई तथ्य है राज्य की डबल इंजन सरकार बीजेपी सांसद व प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी की एंबुलेंस वाली पोल खुलने के बाद लगातार स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर प्रशासन की पोल खोलने वाले एक पत्रकार की तरह जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव की कार्यवाही से बौखला कर,

बिना उन्हें कोई वाजिब कारण बताए पांच थानों की पुलिस ने पहुंचकर उन्हें गिरफ्तार कर गांधी मैदान थाने ले जाकर पूछताछ कर रही है।

गिरफ्तारी के बाद थाने में पप्पू यादव

पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद बड़ी संख्या में उनके समर्थक व जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हंगामा करते हुए डीएसपी व थाना प्रभारी से जमकर बहस की कार्यकर्ता लगातार पूछ रहे हैं ? आखिर पप्पू यादव पर क्या आरोप है जिसकी वजह से उनकी गिरफ्तारी की गई है ?

इस तरह जनकल्याण में लगे जन अधिकार पार्टी के पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद चौतरफा नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली डबल इंजन सरकार की निंदा हो रही है पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर पूर्व सीएम जितेन राम मांझी ने अपनी सरकार को घेरते हुए कहा-

जनप्रतिनिधि अगर दिन-रात जनता की सेवा करें और उसके एवज में उसे गिरफ्तार किया जाए ऐसी घटना मानवता के लिए खतरनाक है। मांझी ने पूरे मामले पर कहा कि ऐसे मामलों की न्यायिक जांच हो तब ही कोई कार्रवाई होनी चाहिए नहीं तो जनाक्रोश होना लाजमी है।

बिहार एंबुलेंस की कमी से लोग परेशान, बीजेपी सांसद के यहां दर्जनों एंबुलेंस खा रही जंग, पप्पू यादव के खुलासे के बाद राजनीतिक भूचाल, 40 ड्राइवर लेकर पहुंचे पप्पू, सत्ता को सूंघ गया सांप

क्या है पूरा मामला

बिहार के मधेपुरा से पूर्व सांसद व जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव को पांच थानों की पुलिस मंगलवार कि सुबह मंदिर स्थित आवास पर नजरबंद कर महज आधे घंटे में उन्हें हिरासत में ले लिया उन्हें हिरासत में देने के लिए डीएसपी पूर्व सांसद के आवास पर खुद गए थे पहले लोग इसे हाउस अरेस्ट समझ रहे थे लेकिन इसके कुछ समय बाद डीएसपी उन्हें अपने साथ गिरफ्तार कर गांधी मैदान थाने ले गए इस मामले की जानकारी मिलने के बाद उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ गांधी मैदान थाने के आसपास मीडिया की चहल कदमी मच गई।

उक्त जानकारी मिली है कि बीते दिनों बीजेपी सांसद व प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी की एंबुलेंस वाली पोल खुलने के बाद डबल इंजन की सरकार बौखला उठी, बता दे लगातार पप्पू यादव सरकारी हॉस्पिटल से लेकर ऑक्सीजन इलाज व सरकारी तंत्र की व्यवस्था की पोल खोल रहे थे जिसके चलते सरकार की चौतरफा किरकिरी होने के बाद भारी दबाव में उनकी गिरफ्तारी की गई है।

पुलिसिया सूत्रों के मुताबिक बिना lock-down पास पप्पू यादव लगातार अस्पताल और इलाकों का दौरा कर लॉक डाउन कानून का उल्लंघन कर रहे थे जिसकी वजह से उन्हें गिरफ्तार किया गया है। बता दे विगत दिनों पप्पू यादव सारंग से बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के घर पर खड़ी दर्जनों एंबुलेंस की पोल खोलने गए थे जिस मामले में अमनौर के सीओ ने पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मामला दर्ज करवाया था इसमें पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के भी आरोप बताए गए हैं, जिस मामले में यह कार्रवाई की गई है बरहाल लॉकडाउन उल्लंघन की कार्यवाही से अलग इस मामले को बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था की लगातार पोल खोलने से बौखलाई सरकार के दबाव में कार्यवाही के तौर पर देखा जा रहा है।

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा- लोगों को बचाने का इनाम दिया जा रहा है

बता दे पूर्व सांसद पप्पू यादव पर एंबुलेंस मामले में तोड़फोड़ हिंसा व रंगदारी को लेकर f.i.r. दर्ज कराई गई थी। पुलिस द्वारा पूर्व सांसद को बिना कुछ बताए गिरफ्तार कर अपने साथ गांधी मैदान थाने ले जाया गया। इस बीच जब मीडिया ने पप्पू यादव से पूछा तो उन्होंने साफ बताया उन्हें कुछ नहीं पता उन्हें क्यों ले जाया जा रहा है पप्पू यादव ने गिरफ्तारी को लेकर कहा कि सरकार से पूछिए ?

उन्होंने मीडिया को बताया उन्हें बाहर नहीं जाने दिया जा रहा था। उन्होंने साफ शब्दों में बताया कि लोगों को बचाने का उन्हें इनाम दिया जा रहा है फिलहाल पुलिस में पूर्व सांसद व जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव को गांधी मैदान थाने में रखा है अब उन्होंने खुद पुष्टि कर दी है कि उन्हें किस लिए गिरफ्तार किया गया है।

पटना से सहयोगियों के साथ विशाल गुप्ता की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here