loading...

राजधानी लखनऊ के राजाजीपुरम की रहने वाली अयोध्या शहर में पीएनबी अफसर (रैंक में) तैनात युवती श्रद्धा गुप्ता ने शनिवार देर रात किराए के मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली उसने चंद लाइनों के सुसाइड नोट में अयोध्या के पूर्व एसएसपी (IPS) आशीष तिवारी, विवेक गुप्ता और अनिल रावत को अपनी सुसाइड की वजह लिखते हुए….आई एम फोर सॉरी लिख कर सुसाइड किया है इसमें एक एसएसपी एक पुलिसवाले वाले को सुधा गुप्ता नहीं अपनी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। सुसाइड नोट पर अयोध्या के वर्तमान एसएसपी शैलेश पांडे ने बताया कि सुसाइड नोट की जांच कराई जाएगी उसमें जो कुछ नाम है वह कैसे आई इसकी भी जांच की जा रही है जो तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

loading...

बता दे राजधानी लखनऊ के राजाजीपुरम की रहने वाली 30 वर्षीय श्रद्धा गुप्ता पुत्री राजकुमार गुप्ता अयोध्या शहर के खवासपुरा मोहल्ले में एक किराए के मकान में रहकर पंजाब नेशनल बैंक अयोध्या की क्षेत्रीय शाखा स्केल वन अफसर के पद पर तैनात थी। श्रद्धा के परिजनों के मुताबिक शुक्रवार की शाम से श्रद्धा के परिजन फोन कर रहे थे लेकिन श्रद्धा का लगातार फोन रिसीव ना होने से परेशान हूं उन्होंने शनिवार की सुबह फिर से फोन करने शुरू किए जब कोई फोन रिसीव नहीं हुआ तो उन्होंने इसकी सूचना मकान मालिक को देते हुए जानकारी मांगी। मकान मालिक निष्ठा आवाज लगाई जब कमरा न कमरा खुला ना कमरे से कोई आवाज आई तब मालिक ने कमरे की लगी खिड़की से झांककर देखा तो अंदर फंदे के सहारे श्रद्धा का शौक रहा था जिसके बाद मकान मालिक में इसकी जानकारी श्रद्धा के परिजनों को दी। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई मौके पर एसएसपी शैलेश पांडे एसपी सिटी विजय पाल सिंह एसपी बंसल ने मौके पर पहुंचकर खिड़की तोड़कर श्रद्धा के कमरे में पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

जिंदादिल होनहार थी श्रद्धा, 2015 में हुई थी ज्वाइन

पढ़ने लिखने में माहिर श्रद्धा गुप्ता ने अपनी कुशाग्र बुद्धि के बल पर कम उम्र में बताओ और हेड क्लर्क पंजाब नेशनल बैंक में 2015 में जॉइनिंग लेने के बाद विभागीय परीक्षाओं को पास करते हुए कम उम्र में स्केल वन अधिकारी के पद तक पहुंची थी गुरुवार को अयोध्या के क्षेत्रीय कार्यालय में एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वह शुक्रवार को कार्यालय पर भी नहीं गई शुक्रवार रात से जब उनके परिजनों का फोन रिसीव नहीं हुआ तब शनिवार सुबह दुखद खबर सामने आई….

loading...

श्रद्धा ने सुसाइड नोट के जरिए अपने दर्द को बयां करते हुए लिखा……।

पापा मम्मी,

loading...

मेरे सुसाइड की वजह विवेक गुप्ता, आशीष तिवारी (SSF Head LKO) और अनिल रावत (Police, Faizabad) ये तीन हैं. I’m sorry for this.

Shraddha

(जानकारी के मुताबिक इस आत्महत्या लेटर में आशीष तिवारी आईपीएस अधिकारी है जबकि अनिल रावत पुलिस फैजाबाद का नाम स्पष्ट है सुसाइड नोट में लिखे विवेक गुप्ता आईआईटी पास आउट है जिनकी कोविड-19 के चलते एचसीएल से जॉब चली गई थी इनकी श्रद्धा गुप्ता से पहले शादी हो रही थी लेकिन कोरोना काल में इनकी शादी भी टूट गई थी।)

उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर अखिलेश यादव ने साधा निशाना……

loading...