loading...

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के बाद अलीगढ़ में फिर एक बार बुलंदशहर पुलिस की अपहरण के साथ गुंडागर्दी सामने आई। जहां बुलंदशहर के पुलिस इंस्पेक्टर ने अलीगढ़ के फैक्ट्री कारोबारी का अपहरण कर मारपीट करते हुए कई घंटे तक शहर में घुमाते रहे इस दौरान कारोबारी का फोन बजता रहा। अलीगढ़ पुलिस द्वारा मामले से उच्च अधिकारियों को जब अवगत कराया गया तो इंस्पेक्टर अजय यादव ने अपना मंसूबा बदलते हुए पीड़ित को थाने के बाहर फेंक कर फरार हो गए। आई जी के आदेश पर बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने इंस्पेक्टर को निलंबित करते हुए 10 के खिलाफ अलीगढ़ के थाना हरदुआगंज में अपहरण मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से पुलिस की गुंडागर्दी के साथ कानून व्यवस्था को तार-तार कर देने वाली गैर कानूनी घटना सामने आई है और अपहरण का यह जघन्य अपराध किसी और ने नहीं बुलंदशहर में अपराध निरीक्षक के पद पर तैनात अजय यादव ने बिना इजाजत अलीगढ़ में जाकर हरदुआगंज थाना क्षेत्र के सेक्टर 1 में नेहा फ्रूट नाम का प्रतिष्ठान चलाने वाले अभिषेक तिवारी की फैक्ट्री में गुरुवार रात 8:00 बजे स्कॉर्पियो गाड़ी से पहुंचकर अपने साथ एक दर्जन के करीब लोगों के साथ पहुंच कर घटना को अंजाम दिया है।

loading...

आरोपी अजय ने अपने आप को पुलिस अधिकारी बता अभिषेक तिवारी को फैक्ट्री से बाहर बुलाया पुलिस के साथ मौजूद संजीव कुमार नाम के शख्स ने उनके साथ मारपीट मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच अपने आप को इंस्पेक्टर बताने वाले शख्स ने अभिषेक तिवारी के गुप्तांगों पर लातों से ताबड़तोड़ प्रहार शुरू कर दिऐ। फैक्ट्री कर्मचारी के सामने अचानक एकाएक पुलिस की गुंडागर्दी के साथ हुए प्रहार से अभिषेक तिवारी संभल ही नहीं पाए कि पुलिस की वर्दी में आए गुंडों ने उन्हें स्कॉर्पियो गाड़ी में खींच कर भाग निकले कर्मचारी ने वारदात के बाद अलीगढ़ पुलिस को फोन किया। स्थानी चौकी इंचार्ज ने घटना की गंभीरता को समझते हुए इलाके में खोजबीन शुरू कर दी। अलीगढ़ पुलिस द्वारा एक स्थान पर स्कॉर्पियो गाड़ी रोकी गई तो इस्पेक्टर अजय यादव ने खुद का परिचय देते हुए बताया कि अभिषेक तिवारी को वह बुलंदशहर ले जा रहे हैं।

इतना कहते ही इंस्पेक्टर स्कॉर्पियो गाड़ी को तेजी से भगा कर भाग निकला। दूसरी तरफ पुलिस द्वारा अपहरण किए गए अभिषेक तिवारी के मुताबिक गाड़ी में पुलिस वालों द्वारा उनके साथ मारपीट करते हुए का स्थान पर गाड़ी रोककर डंडों से पिटाई की गई।

गोसाईगंज मंदिर ट्रस्ट के जमीनी विवाद के चलते निर्मल की पीट-पीटकर हत्या, पुजारी समेत 6 लोगों पर मामला दर्ज, गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें गठित

व्यापारी के अपहरण की घटना की गंभीरता को देखते हुए चौकी इंचार्ज ने उच्चाधिकारियों को अवगत कराया

loading...

दूसरी तरफ चौकी क्षेत्र से निजी फैक्ट्री मालिक के अपहरण की जानकारी के बाद सक्रिय चौकी इंचार्ज ने जिले के आला अधिकारियों से वार्ता कर घटना की जानकारी से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। घटना की गंभीरता को देखते हुए मेरठ के आईजी ने वार्ता की। मेरठ आईजी के दखल के बाद बुलंदशहर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इंस्पेक्टर अजय यादव के मोबाइल पर फोन करना शुरू करते हुए दबाव बनाया कि तत्काल कारोबारी को छोड़ा जाए। जिसके बाद इंस्पेक्टर अजय यादव का मंसूबा बदला उच्च अधिकारियों कि शिकायत के बाद उन्होंने रात करीब 2:00 बजे अपने साथियों के साथ अभिषेक तिवारी को थाना हरदुआगंज के बाहर फेंक कर मौके से फरार हो गए।

अभिषेक तिवारी की शिकायत पर हरदुआगंज में इंस्पेक्टर समेत 10 पुलिसकर्मी के खिलाफ मारपीट अपहरण की धाराओं में मामला दर्ज

अलीगढ़ के हरदुआगंज थाना क्षेत्र से अपहरण के बाद मारपीट के शिकार अभिषेक तिवारी की शिकायत पर थाना हरदुआगंज में संजीव शर्मा अमित शर्मा अजय कुमार इंस्पेक्टर अजय यादव समेत 10 लोगों (पुलिस वालों) के खिलाफ अपहरण मारपीट की धारा 147, 148, 323, 364 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

आईजी रेंज मेरठ के आदेश पर एसएसपी बुलंदशहर ने आरोपी इंस्पेक्टर अजय यादव के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई के साथ विभागीय कार्रवाई शुरू कराई है।

अभिषेक तिवारी के खिलाफ, धोखाधड़ी का मामला हुआ था दर्ज

loading...

बुलंदशहर एसएसपी के मुताबिक अभिषेक तिवारी के खिलाफ बुलंदशहर में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था।

जिसकी विवेचना इंस्पेक्टर अजय यादव द्वारा की जा रही थी वह बिना अनुमति लिए अलीगढ़ गए थे पूरे मामले में उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दे पूरे मामले में एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने आरोपी इंस्पेक्टर अजय यादव को निलंबित करते हुए इंस्पेक्टर समेत 10 के खिलाफ अलीगढ़ के थाना हरदुआगंज में अपहरण और मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया है अपहरण मारपीट की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी इंस्पेक्टर अजय यादव फरार है ।

पीड़ित के मुताबिक बुलंदशहर पुलिस पूरे मामले में लीपापोती करने में जुट गई है अपहरण करने का मुख्य आरोपी अजय यादव कोतवाली नगर में अपराध निरीक्षक के पद पर तैनात था।

loading...