loading...

रायबरेली के लालगंज कोतवाली से शर्मसार कर देने वाला सनसनीखेज मामला सामने आया है पेशे से ई-रिक्शा चालक दो भाइयों को 26 अगस्त की रात लालगंज पुलिस घर से उठा ले जा हवालात में पुलिस मोहित की जमकर पिटाई करती है एक भाई रोहित को 28 अगस्त को छोड़ देती है, लेकिन मोहित को अपनी हिरासत में रखती है इस दौरान परिजनों के मुताबिक 3 दिन तक थर्ड डिग्री टॉर्चर से मोहित की तबीयत बिगड़ने से उसे जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस पर थर्ड डिग्री टॉर्चर कर उसकी निर्मम हत्या करने का गंभीर आरोप लगाया है। युवक की थर्ड डिग्री टॉर्चर से मौत के मामले में गांव के सैकड़ों लोगों ने लालगंज कोतवाली का घेराव करते हुए रायबरेली फैजाबाद हाईवे पर जाम लगाकर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे रात में अंधेरे का फायदा उठाकर पुलिस ने ग्रामीणों पर लाठीचार्ज कर दिया।

loading...

जिसके बाद लोगों का गुस्सा भड़क उठा, परिजनों से लेकर ग्रामीण लगातार लालगंज पुलिस पर झूठे आरोप लगाकर थाने में पिटाई के बाद हत्या करने का गंभीर आरोप लगाते हुए दोषियों के खिलाफ हत्या के मामले में एफ आई आर दर्ज कर तत्काल कड़ी कानूनी कार्रवाई की मांग करते रहे। दूसरी तरफ अधिकारी कार्यवाही का आश्वासन दे मामले में लोगों को शांत कराने की कोशिश करते रहे। भारी भीड़ व नारेबाजी को देखते हुए एसपी व उपजिलाधिकारी लाल सैनी वह पुलिस के आला अधिकारी व कई थानों की फोर्स के साथ लालगंज पहुंचे।

क्या है मामला

रायबरेली के लालगंज कोतवाली पुलिस 26 अगस्त की रात बेहटा कला गांव के पूरे बैजू गांव निवासी मोहित व उसके भाई सोनू पेशे से रिक्शा चालक दो भाइयों को घर से उठा ले गई। पुलिस के मुताबिक उन पर बाइक चोरी के आरोप है परिजनों ने बताया इस बाबत पुलिस ने मोहित की जमकर पिटाई की 28 अगस्त को एक भाई सोनू को छोड़ दिया। मोहित को छोड़ने के लिए पुलिस वाले लगातार पैसे की डिमांड करते रहे, वह गरीब होने के कारण पैसे नहीं दे सके। पुलिस वालों ने थर्ड डिग्री टॉर्चर यानी पीट-पीटकर मोहित की हत्या कर दी। बता दे पुलिस के मुताबिक मोहित की हिरासत में सुबह तबीयत बिगड़ने की वजह से जिला हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां उसकी 2:30 बजे मौत हो गई। मोहित की मौत की खबर परिजनों तक पहुंचने के बाद ग्रामीण व परिजन इंसाफ की मांग करते हुए कोतवाली में हंगामा करने लगे जिसकी सुनवाई ना होता देख नाराज परिजनों के साथ सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने हाईवे पर जाम लगा इंसाफ की मांग करने लगे। अंधेरे का फायदा उठाते हुए पुलिस ने ग्रामीणों को चित्रर- बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दी जिससे ग्रामीण नाराज हो तोड़फोड़ करने लगे। ग्रामीणों के गुस्से को बढ़ता देख कई थानों की फोर्स के साथ आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। देर रात मौके पर एसपी और जिला अधिकारी पहुंचे एसपी स्वप्निल ममगई निरीक्षक हरिशंकर प्रजापति को निलंबित कर दिया।

पुलिस अधीक्षक ने क्या कहा

पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगई के मुताबिक युवक से वाहन चोरी की वारदात के संबंध में पूछताछ के लिए कोतवाली लाया गया था जिसकी रविवार की सुबह तबीयत खराब होने की वजह से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां करीब 2:30 बजे उसकी मृत्यु हो गई। उनके मुताबिक डॉक्टरों ने कहा कि उसे निमोनिया था बाकी केस में जो शिकायत आएगी उसके आधार पर जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

loading...

परिजनों ने कहा कि 26 तारीख को घर से उठा ले जाकर उसे थर्ड डिग्री टॉर्चर कर हत्या कर दी गई पूरे मामले में आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाए हम सस्पेंड नहीं आरोपियों पर सख्त कार्रवाई चाहते हैं परिजनों ने बताया 3 दिन तक कोतवाली में रखकर पैसे की मांग की जाती रही। इस बीच मोहित की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। परिजनों के आरोपों पर पुलिस मामले को संदिग्ध मानते हुए जांच की बात कर रही है पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

मृतक को 3 दिन तक अवैध हिरासत में क्यों रखा गया ?

मृतक अगर बीमार था तो 3 दिन तक हिरासत में रखने के बजाय उसे इलाज के लिए अस्पताल क्यों नहीं भेजा गया ?

परिजनों का आरोप अगर सही है तो थर्ड (डिग्री टॉर्चर) पुलिस हिरासत में रखकर हत्या करने वालो पर निलंबन की कार्रवाई क्यों बर्खास्त क्यों नहीं किया गया ?

इंसाफ की मांग कर रहे पीड़ित के परिजनों पर लाठीचार्ज क्यों किया गया ?

रायबरेली पुलिस ने पूरे मामले पर प्रेस रिलीज जारी कर अपना पक्ष रखा है, उसे पढ़कर पूरा मामला समझने की कोशिश करें-

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here