loading...

उत्तर प्रदेश दिन पर दिन दरिंदगी थमने का नाम नहीं ले रही। ताजा मामला फिर हाथरस के सासनी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव से आया है। जहां घर के बाहर खेल रही 4 वर्षीय मासूम बच्ची को 20 वर्षीय चेहरे भाई ने टॉफी दिलाने के बहाने ले जाकर मासूम को हवस का शिकार बनाया। दरिंदगी की शिकार 4 वर्षीय मासूम बच्ची घटना के बाद खुद को रोते हुए कमरे में कैद कर लिया। जब परिजनों बच्ची को रोते हुए देखा तो उन्होंने से पूरा मामला जाना मासूम बच्ची ने परिवार वालों को पूरी दरिंदगी की वारदात बता दी। जिसके बाद बच्चे के दादा ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को देते हुए आरोपी की सरगर्मी से तलाश शुरू की। लेकिन तहरीर लिखे जाने से पहले आरोपी फरार हो चुका था। पूरे मामले की जानकारी के बाद परिवार वाले बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे। घटना की जानकारी होते ही पुलिस क्षेत्राधिकारी रुचि गुप्ता घटनास्थल पर पहुंची। उन्होंने परिवार वालों से घटना से संबंधित आवश्यक तथ्य जुटाकर बच्ची का समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल करवाया है।

क्या है पूरा मामला

बता दे पूरा मामला हाथरस जिले के सासनी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का है जहां 4 वर्षीय मासूम बच्ची के माता-पिता आलू स्टोर में आलू छटनी का काम करते हैं। घटना उस समय की है जब मंगलवार को बच्चे के माता-पिता आलू छटनी के लिए कोल्ड स्टोर पर चले गए अन्य बच्चों के साथ बच्ची घर के बाहर खेल रही थी। तभी नशे में धुत 20 वर्षीय चचेरे भाई ने मासूम बच्ची को टॉफी दिलाने के बहाने ले जा कर। हैयवानियत की घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद रोती हुई बच्ची अपने आप को कमरे में बंद कर लेती है। जब बच्ची के परिजन आए उसने बच्ची को रोते हुए कमरे में देखा पूरा मामला पूछा। बच्ची के प्राइवेट अंगों से रक्त बह रहा था। पूरे मामले की जानकारी के बाद परिजनों के पैरों के तले से जमीन खिसक गई। उन्होंने तत्काल पूरे मामले की जानकारी देते हुए बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के जाने के बाद कोतवाली पहुंचे और पूरे मामले की तहरीर दी। घटना की जानकारी मिलते ही क्षेत्र अधिकारी रुचि गुप्ता ने बच्ची का मेडिकल करवाते हुए सलाइड बनवाई फिलहाल बच्ची को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है।

loading...

पुलिस ने पूरे मामले की जानकारी के बाद आरोपी के खिलाफ गंभीर धाराओं में मामला पंजीकृत करते हुए गिरफ्तार कर लिया है।

loading...