loading...

झांसी दिन पर दिन भ्रष्टाचार का दानव लोगों को तबाह करता जा रहा है सरकारी तनख्वाह पाने के बावजूद यह भ्रष्टाचारी बाबू दिन दूनी रात चौगुनी रिश्वत से जेब गर्म करते हुए गरीबों का खून चूस कर जोक बनते जा रहे हैं।

सोमवार को झांसी जिले की टंकोरी इलाके में तैनात लेखपाल बद्री प्रसाद मिश्रा एंटी करप्शन की टीम ने दोपहर को दाखिल खारिज कराने के लिए 6000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ उनके बेटे के शादी के दिन पहले गिरफ्तार कर लिया है यानी एक तरफ मंगलवार को उनके बेटे की बरात जानी है तो दूसरी तरफ लेखपाल महोदय को एंटी करप्शन की टीम लखनऊ कोर्ट में पेश करेगी।

लेखपाल को प्लाट का दाखिल खारिज करने की एवज में पुलिसकर्मी से घर के बाहर 6000 की रिश्वत लेते आगरा झांसी की संयुक्त एंटी करप्शन की टीम ने लेखपाल को गिरफ्तार करके उसके खिलाफ सिपरी बाजार थाने में भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज करवाते हुए आरोपी लेखपाल से पूछताछ कर इस मामले में उसके साथ कौन-कौन से कर्मचारी मिले हैं इसकी जानकारी हासिल की जा रही है मंगलवार को एंटी करप्शन की टीम उसे लखनऊ कोर्ट में पेश करेगी।

232 वर्ग फुट जमीन की दाखिल खारिज कराने में मांगी थी रिश्वत, रिश्वत लेते एंटी करप्शन ने रंगे हाथ किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले की टंकोरी इलाके में तैनात सिपरी बाजार के रायगंज के रहने वाले एक पाल बद्री प्रसाद दीक्षित ने 232 वर्ग फुट जमीन की दाखिल खारिज को रिश्वत ना मिलने के चलते शहर कोतवाली में रविदास समाज मंदिर के पास रहने वाली रवि साईं पुत्र धर्म दास अहिरवार जो कि वर्तमान में बांदा जीआरपीएफ में सिपाही के पद पर तैनात है उन्होंने टाकौरी मौजी में वसीम चौहान से 232 वर्ग फुट जमीन खरीदी जिसका दाखिल खारिज उन्हें करवाना था 14 नवंबर तक उस मामले में कोई भी आपत्ति नहीं हुई तो रवि साईं 26 नवंबर को तहसील में गए उस मौजे के लेखपाल शिवपुरी बाजार के रायगंज के रहने वाले बद्री प्रसाद दीक्षित ने दाखिल खारिज करने की एवज में उनसे 6000 की मांग की।

उन्होंने जिसकी सूचना 27 नवंबर को एंटी करप्शन टीम कि लखनऊ मुख्यालय को दी उनकी शिकायत पर पूरी रणनीति तय हुई इसी बीच लेखपाल ने रुपए के लिए 1:00 30 नवंबर दिन सोमवार का बिंदिया शिकायतकर्ता ने मुख्यालय को सूचित किया मुख्यालय से आगरा व झांसी की संयुक्त एंटी करप्शन की टीमें बनाई गई आरोपी लेखपाल ने पीड़ित पुलिसकर्मी को रिश्वत लेकर अपने घर पर बुलाया जैसे ही पीड़ित रिश्वत लेकर उनके घर पहुंचा और लेखपाल बद्री प्रसाद दीक्षित ने उनसे घर के बाहर छे हजार की रिश्वत ली इसी बीच पीड़ित के इशारे पर एंटी करप्शन की टीम ने रिश्वत लेते लेखपाल को रंगे हाथ गिरफ्तार कर सीपरी बाजार थाने में मामला दर्ज कर लिया है मंगलवार को उन्हें लखनऊ की कोर्ट में पेश किया जाना है और दूसरी तरफ संयोग से मंगलवार को ही उनके बेटे की बरात जानी है।

loading...

झांसी से विशाल गुप्ता की रिपोर्ट

loading...