लगातार ताइवान पर कब्जा करने की कोशिश करते हुए दबाव बना रहा था उसने धमकी दी थी 4 सितंबर तक कुछ बड़ा करेंगे जानकारी के मुताबिक चीन के 5 फाइटर प्लेन ताइवान आसमानी सीमा का उल्लंघन कर रहे थे जिसके बाद ताइवान के द्वारा कड़े कदम उठाए गए हालांकि इस बात की भी पुष्टि नहीं हुई है।

कितने विमान धराशाई हुए हैं एक विमान का मलबा सामने वीडियो में आप खुद देख सकते हैं और दूसरी तरफ चीन का पायलट।

दक्षिण चीन सागर में भारी तनाव के बीच ताइवान द्वारा चीन के सुखोई 35 फाइटर जेट को मार गिराने की खबर आ रही है हालांकि नहीं चीनी और ना ही ताइवान की सेना ने पीएलए के सुखोई 35 विमान को मार गिराने का दावा नहीं किया है। चीन ने 4 सितंबर तक कुछ बड़ा करने की लगातार धमकी देते हुए टाइमपास पर एक्शन की प्लानिंग कि कई बार अपने फ्रेंड अखबार के जरिए घोषणा की थी हाल ही के दिनों में हांगकांग की तर्ज पर पर चाइनीस राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लागू कर ताइवान को दबाव में लेने की कोशिश की थी टीम को बताते हुए दो दिन पहले ही अपने पासपोर्ट से चाइनीस शब्द हटा लिया है। अंतर्राष्ट्रीय खबरों के मुताबिक चीन के किसी भी आक्रमण का सामना करने के लिए ताइवान की राष्ट्रपति ने तालिबान के नेताओं में बढ़ोतरी करते हुए रिजर्व सुरक्षा बलों को मजबूत करने की घोषणा करने के साथ ही तानी सेना को मजबूत रूप से विकसित करने की तैयारी में जोर-शोर से जुटी हुई है उनके मुताबिक रिजर्व फोर्स को वह सभी ताकत और हथियार व सैन्य साजो सामान दिया जाएगा जिसके इस्तेमाल से ताइवान की फौज मजबूत होगी।

ताइवान ने चीन के एक फाइटर जेट को मार गिराया है। टीवी रिपोर्टों के अनुसार दावा किया जा रहा है कि चीनी सुखोई विमान 35 को ताइवान के हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने के दौरान अमेरिकी पैट्रियॉट मिसाइल डिफेंस सिस्टम की मदद से ताइवान ने मार गिराया है। हालांकि इस मामले में इस मामले में ताइवान और चीन दोनों में से किसी की तरफ से कोई पुष्टि नहीं आई है लेकिन लगातार ताइवान पर चीन के दबाव को देखते हुए राष्ट्रपति बेहद सतर्क की चीन लगातार उकसाने की कार्यवाही कर रहा था चीन के विस्तार वादी नीतियों के चलते उसके पड़ोसी देश ताइवान भारत वियतनाम जापान दक्षिण कोरिया से लगातार तनाव गहराता ही जा रहा है चीन दुनिया का एकमात्र जमीन का भूखा विस्तार वादी देश है जो किसी भी तरीके से दूसरे देश को हड़पने की कोशिश में लगा रहता है लगातार चीन अपनी दादागिरी दिखाते कमजोर देशों को डराने की धमकी दे उन पर अवैध कब्जा करने की कोशिश करता रहा है और कर भी रहा है यह पहली बार नहीं है कि चीन इस टाइम में ताकत के बल पर राष्ट्रवादी ताइवान को अपने में मिलाने की धमकी दी हो वह बीते कुछ समय से लगातार ताइवान की सरहद सीमा में अपने एयरक्राफ्ट भेजकर उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करता रहा है यही वह भारतीय सीमा क्षेत्र में भी कराने की कार्रवाई करता रहता है एक तरफ अमेरिका ताइवान के साथ मजबूत तरीके से खड़ा है।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहे हैं हालांकि किसी भी देश के सैन्य अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि चीन के फाइटर प्लेन को ताइवान ने मार गिराया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here