loading...

लखनऊ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ट्वीट कार कहां अराजकता स्वीकार नहीं है सर्वजनिक संपत्ति व निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले दंगाइयों व उपद्रवियों से जल्द वसूली सुनिश्चित की जाएगी इसके लिए जल्दी क्षतिपूर्ति दावा अधिकरण गठित किया जाएगा। वही सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर उपद्रवियों से सख्ती से पेश आने के संकेत दिए हैं। बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दंगाइयों ने हिंसा फैलाते हुए राजधानी लखनऊ और मेरठ समेत यूपी के कई हिस्सों में निजी व सार्वजनिक संपत्ति को भारी क्षति पहुंचाई थी जिसकी भरपाई के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मार्च महीने में उत्तर प्रदेश लोक तथा निजी संपत्ति क्षति वसूली नियमावली 2020 पारित किया था। इसी नियमावली के तहत मुख्यमंत्री सर्वप्रथम प्रथम लखनऊ व मेरठ मंडल के दावा अधिकरण के अंतर्गत सहारनपुर मेरठ अलीगढ़ मुरादाबाद बरेली आगरा मंडल की याचिका स्वीकार करने के लिए गठन को मंजूरी दी है।

‌ बता दे नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए के विरोध में हिंसात्मक प्रदर्शन के दौरान सरकारी व निजी क्षेत्र की संपत्तियों के हुए नुकसान की भरपाई के लिए उपद्रवियों से जल्द क्षतिपूर्ति की वसूली की प्रक्रिया जल्द शुरू किये जाने के आसार हैं। इसके लिए दावा अधिकरण के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है दावा अधिकरण में 2 सदस्य होंगे पहला अधिकरण के अध्यक्ष सेवानिवृत्त जज दूसरे सदस्य मंडल नियुक्त स्तर के अधिकारी होंगे। सूत्रों के मुताबिक अध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया जल्द शुरू हो जाएगी दावा अधिकरण की नियुक्ति 5 वर्ष की अवधि अथवा अधिकारी की 60 वर्ष की उम्र पूरी होने तक होगी जानकारी के मुताबिक दावा अधिकरण नेताओं की सुनवाई के लिए पक्षकारों को नोटिस भी दी जाएगी अभी कल मौके सुनवाई गवाह की सुनवाई व साक्ष्य के लिए पूरा मौका देते हुए निर्णय सुनाया जाएगा क्षतिपूर्ति की वसूली की कार्रवाई भू राजस्थान के बकाए के रूप में की जाएगी बात की जाए लखनऊ मंडल के दावा अधिकरण के अंतर्गत झांसी कानपुर चित्रकूट धाम लखनऊ अयोध्या प्रयागराज वाराणसी गोरखपुर बस्ती विंध्याचल धाम देवीपाटन अयोध्या की याचिकाएं स्वीकार की जाएंगी जबकि मेरठ मंडल में अलीगढ़ बरेली मुरादाबाद मेरठ सहारनपुर आगरा मंडल की याचिकाएं का स्वीकार कर निस्तारण किया जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here