loading...

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में बढ़ते लव जिहाद के बढ़ते केसों के बीच जौनपुर की मल्हनी विधानसभा सीट के उप चुनाव की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- “इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा है कि शादी के लिए धर्म बदलना जरूरी नहीं है। सरकार भी ‘लव जिहाद’ पर रोक लगाने के लिए काम करेगी। हम कानून बनाएंगे। मैं पहचान छिपाकर हमारी बहनों के सम्मान के साथ खिलवाड़ करने वालों को चेतावनी देना चाहता हूं कि अगर अपने रास्ते नहीं बदले तो आपकी राम नाम सत्य यात्रा शुरू हो जाएगी।

loading...

सीएम योगी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए कहा है। बता दे विगत कुछ दिनों में लव जिहाद के कई संगीन मामले आये आए हैं जहां लड़कियों को धोखे में रख कर मुस्लिम युवकों द्वारा लड़कीयों को प्रेम जाल में फंसा ब्लैकमेल करते हुऐ डर धमकी बेइज्जत करने का दबाव डालते हुए धर्म बदलाकर लड़की के साथ धोखाधड़ी कर जबरन धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कराने के मामले सामने आए हैं। ऐसे 1 मामले की याचिका की सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि केवल शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं है। जिसके बाद विपरीत धर्म के जोड़े की याचिका को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने खारिज कर दी।

“लव जेहाद के मामलों को रुोकने का काम करने का आश्वासन देते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जो लोग अपनी पहचान छिपाकर लड़कियों के सम्मान को ठेस पहुंचाते है, उनका ‘राम नाम सत्य होगा’ उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों को रोकने का काम कर रहे हैं। इसे रोकने के लिए जल्द कानून बनाएंगे।”

loading...